बौद्ध धर्म गुरु अपने जीवन का शेष समय धर्मशाला में ही बिताना चाहते हैं.

धर्मशाला: बौद्ध धर्म गुरु दलाई लामा अपने जीवन के शेष दिन धर्मशाला में ही बिताना चाहते हैं। उन्होंने कहा धर्मशाला की आबोहवा व यहां की भौगोलिक परिस्थितियां उनके अनुकूल हैं। उनके स्वास्थ्य के लिए यह जगह बहुत अच्छी है। बर्फीले पहाड़ झीलें व जंगल उन्हें पसंद हैं।

उन्होंने कहा कि जब वह पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मिले थे तो उनसे कहा था कि वह भारत को अपने बचे हुए जीवन के दिन व्यतीत करना चाहते हैं और जब मृत्यु हो तो यहीं हो। भारत में धार्मिक सदभावना है। यहां पर धर्मों के बीच में बहुत अच्छी सदभावना है।

भारत में सभी धर्म अच्छे से रह रहे हैं। धार्मिक सदभावना बने, इसलिए मैं जब दिल्ली गया तो जामा मस्जिद में मुस्लिम भाइयों की टोपी पहन कर उनकी तरह पूजा की। कभी वक्त मिला तो मक्का भी जाना चाहूंगा। सभी धर्म समान है। भारत देश में सभी धर्मों का सम्मान होता है। यह जगह मेरे लिए अनुकूल है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: