धर्मशाला, 20 फरवरी। जिला कांगड़ा में विशेष कार्य योजना बनाकर बच्चों के आधार अपडेट किये जाएंगे। उपायुक्त कार्यालय में आज सोमवार को जिला स्तरीय आधार मोनिटरिंग कमेटी की बैठक की अध्यक्षता करते हुए अतिरिक्त उपायुक्त कांगड़ा सौरभा जस्सल ने यह बात कही। बैठक में शिक्षा विभाग, महिला एवं बाल विकास, पोस्टल बैंक, यूआईडीएआई और जिला सूचना प्रोद्यौगिकि के अधिकारी उपस्थित रहे।


एडीसी ने कहा कि जिले में आधार सीडिंग और अपडेट करने के लिए लगभग 200 आधार केंद्रों इस समय कार्य कर रहे हैं। उन्होंने उपस्थित अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि इन आधार केंद्रों के माध्यम से अब 15 वर्ष तक की आयु वाले बच्चों की आधार सीडिंग पर विशेष बल दिया जाएगा। जिनमें 5 वर्ष से अधिक और 15 वर्ष से अधिक आयु के बच्चों के आधार बनाने पर जोर रहेगा।


उन्होंने कहा कि जिले के समस्त शिक्षण संस्थानों में बच्चों के आधाार अपडेशन के लिए प्रत्येक माह दो शिविर लगाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि नवजात शिशुओं का आधार नम्बर वही संस्थान जारी करवाना सुनिश्चित करेंगे जहां उनका जन्म हुआ है। उन्होंने जिले के सभी एसडीएम और बीडीओ को समय-समय पर आधार केंद्रों के निरीक्षण की बात कही। एडीसी ने कहा कि आज के समय में आधार पहचान का सबसे उपयुक्त साधन है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा दी जा रही लगभग प्रत्येक सुविधा का लाभ लेने के लिए आज आधार की आवश्यका है। इसकी उपयोगिता को समझते हुए उन्होंने सभी अधिकारियों को बच्चों के आधार बनाने की दिशा में गंभीर प्रयास करने के निर्देश दिए।

By admin

Leave a Reply

%d