शिमला 03 फरवरी, 2023 मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू की अध्यक्षता में आज विधायक प्राथमिकता बैठकों के तीसरे दिन अंतिम सत्र में जिला चंबा, शिमला तथा लाहौल-स्पिति के विधायकों के प्रस्तावों पर विस्तृत चर्चा की गई।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान सरकार ने सहारा व हिमकेयर योजनाओं को सुचारू रूप से चलाने के लिए 900 करोड़ रुपये जारी किए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार इन योजनाओं के माध्यम से बेसहारों का सहारा बनेगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि तीन दिन में विधायकों के चुनाव क्षेत्र से जुड़े विकास कार्यों पर विस्तृत चर्चा हुई और अच्छे प्रस्ताव सामने आए हैं। उन्होंने एक बार पुनः दोहराया कि वह सत्ता के लिए नहीं, बल्कि व्यवस्था परिवर्तन के लिए आए हैं और इसके लिए सभी के सुझावों का स्वागत है, ताकि इसका लाभ प्रदेश के लोगों को मिले। मुख्यमंत्री ने कहा कि व्यवस्था परिवर्तन के लिए कड़े फैसले भी लेने होंगे।

बर्फबारी वाले क्षेत्रों में एंटी फ्रीज पाइप की तकनीकों पर मांगी रिपोर्ट
बैठक मे चर्चा के दौरान ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने जनजातीय और भारी बर्फबारी वाले क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को साल भर पानी की सुविधा प्रदान करने के लिए जल शक्ति विभाग को एंटी फ्रीज पाइपें बिछाने की संभावनाएं तलाशने के निर्देश दिए। उन्होंने एंटी फ्रीज पाइप के साथ-साथ चैंबर बॉक्स व टैंक बनाकर वर्ष भर पानी की सुविधा देने के लिए जिला ग्रामीण विकास अभिकरण की आधुनिक तकनीक का अध्ययन कर इसकी रिपोर्ट प्रस्तुत करने को भी कहा।

नशे पर लगाम कसने के लिए प्रयास कर रही सरकार
ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने चर्चा के दौरान कहा कि प्रदेश में नशे की समस्या पर अंकुश लगाने के लिए वर्तमान राज्य सरकार दृढ़ इच्छा शक्ति के साथ कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि नशा कारोबारियों पर लगाम कसने के साथ ही इसकी निगरानी एवं रोकथाम के लिए समर्पित स्टाफ की तैनाती की जाएगी।

चंबा जिला
विधानसभा क्षेत्र चुराह के विधायक हंसराज ने विपक्ष की ओर से सरकार को सकारात्मक सहयोग का आश्वासन देते हुए अपने क्षेत्र में बेहतर कनेक्टिविटी, चंबा मेडिकल कॉलेज में आधारभूत ढांचे को मजबूत करनेे का प्रस्ताव किया। उन्होंने चंबा को हेली टैक्सी के साथ जोड़ने का आग्रह किया। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि एक साल में सभी जिलों को हेलीपोर्ट से जोड़ने के प्रयास आरंभ कर दिए हैं। हंसराज ने जिला चंबा में अनछुए स्थलों को पर्यटकों के लिए विकसित करने तथा साच पास में रोपवे लगाने का प्रस्ताव किया।
भरमौर से विधायक डॉ. जनक राज ने कहा कि सरकारी कार्यालयों में रिक्त पदों को भरने और स्वास्थ्य सुविधाओं को सुदृढ़ का आग्रह किया। उन्होंने पांगी घाटी में भविष्य की चुनौतियों के अनुरूप 5-5 मेगावाट के दो विद्युत प्रोजेक्ट स्थापित करने का प्रस्ताव किया। विधायक ने होली-उतराला मार्ग निर्माण का प्रस्ताव करते हुए कहा कि यह सड़क चंबा जिला की भाग्य रेखा बन सकता है। मुख्यमंत्री ने इस मार्ग की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट पुनः बनाने के निर्देश दिए।
चंबा से विधायक नीरज नैय्यर ने कहा कि चंबा मेडिकल कॉलेज में आधारभूत ढांचा मजबूत करने तथा रिक्त पद भरने का आग्रह किया। उन्होंने मेडिकल कॉलेज के लिए 8 करोड़ की पेयजल योजना बनाने के साथ-साथ शहर में पार्किंग और मिनी सचिवालय बनाने का प्रस्ताव किया।
डलहौजी से विधायक डी.एस. ठाकुर ने सलूणी अस्पताल के निर्माण कार्य को गति प्रदान करने का आग्रह किया। उन्होंने क्षेत्र में पर्यटकों की सुविधा के लिए आधारभूत ढांचा सुदृढ़ करने, डलहौजी को स्मार्ट सिटी में शामिल करने तथा नए बस अड्डे के निर्माण का प्रस्ताव किया। उन्होंने एफआरए और एफसीए मामलों को स्वीकृत करने में तेजी लाने का आग्रह किया, जिस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इस दिशा में ठोस कदम उठाए जा रहे हैं। विधायक ने डलहौजी और खज्जियार को रोपवे से जोड़ने का प्रस्ताव भी किया।

जिला शिमला
चौपाल से विधायक बलबीर वर्मा ने कुपवी अस्पताल के नए भवन के लिए धन का प्रावधान करने का प्रस्ताव किया। उन्होंने अपने विधानसभा क्षेत्र में जल शक्ति विभाग की परियोजनाओं के लिए बजट प्रदान करने, सराहान से चूड़धार और चूड़धार से नौराधार रोपवे निर्माण का प्रस्ताव किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि छैला बाइपास यशवंत नगर सड़क को एनएच घोषित किया जाएगा।
ठियोग से विधायक कुलदीप राठौर ने कहा कि संस्थानों को सुदृढ़ करने के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों का स्वागत किया। उन्होंने विश्व बैंक से वित्त पोषित 1134 करोड़ रुपये की बागवानी विकास परियोजना में अनियमितताओं का मामला भी उठाया, जिस पर मुख्यमंत्री ने विभाग से विस्तृत रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा। कुलदीप राठौर ने क्षेत्र में पेयजल योजनाओं के निर्माण में तेजी लाने, सड़क व्यवस्था को सुदृढ़ करने व नारकंडा से हाटू तक रोपवे का प्रस्ताव किया।


शिमला से विधायक हरीश जनारथा ने शहर में पार्किंग, ट्रैफिक जाम की समस्या और इलेक्ट्रिक व्हीकल के संचालन का मुद्दा उठाया। उन्होंने शिमला के स्मार्ट सिटी के कार्यों की समीक्षा का आग्रह भी किया। उन्होंने सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट को अपग्रेड करने तथा शिमला शहर में नशा निवारण केंद्र स्थापित करने का भी आग्रह किया। रामपुर से विधायक नंद लाल ने अपने क्षेत्र में सड़क सम्पर्क को बेहतर बनाने, पार्किंग निर्माण और शिक्षण संस्थानों को सुदृढ़ बनाने का प्रस्ताव किया। उन्होंने रामपुर शहर में सुचारू यातायात व्यवस्था के दृष्टिगत पुल का निर्माण करने की बात कही। उन्होंने सेब बागवानों और किसानों की सुविधा के लिए क्षेत्र में सीए स्टोर बनाने, सराहन में रोपवे और खनेरी में ट्रामा सेंटर का भवन का निर्माण तेज करने का भी आग्रह किया। उन्होंने क्षेत्र में नशे की समस्या के समाधान पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता पर बल दिया।

जिला लाहौल-स्पिति
लाहौल-स्पिति से विधायक रवि ठाकुर ने क्षेत्र में पानी की समस्या का स्थाई समाधान करने तथा स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार करने का आग्रह किया। उन्होंने क्षेत्र में अल्सर और कैंसर के बढ़ते मामलों पर चिंता व्यक्त करते हुए इस पर अध्ययन करवाने की बात कही। रवि ठाकुर ने उदयपुर बहुतकनीकी महाविद्यालय में कक्षाएं शुरू करने का प्रस्ताव किया और पशु पालन विभाग में रिक्त पद भरने, क्षेत्र में चार स्थानों पर रोपवे लगाने और पर्यटकों के लिए सुविधाओं का विस्तार करने का प्रस्ताव भी किया।
बैठक में उप-मुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री, विधानसभा अध्यक्ष कुलदीप सिंह पठानिया, शिक्षा मंत्री रोहित ठाकुर, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री अनिरुद्ध सिंह, लोक निर्माण मंत्री विक्रमादित्य सिंह, मुख्य संसदीय सचिव मोहन लाल ब्राक्टा, मुख्य सचिव प्रबोध सक्सेना, वित्त सचिव अक्षय सूद, योजना सलाहकार डॉ. बासू सूद सहित समस्त प्रशासनिक सचिवों, विभागाध्यक्षों, संबंधित उपायुक्तों एवं पुलिस अधीक्षक उपस्थित रहे।

By admin

Leave a Reply

%d