लोक निर्माण एवं शहरी विकास मंत्री विक्रमादित्य सिंह ने आज निगम विहार स्थित मुख्य अभियंता कार्यालय के ऑडिटोरियम में आपदा के दौरान सराहनीय कार्य करने वाले 31 इंजीनियरों एवं फील्ड स्टाफ के अधिकारियों व कर्मचारियों को सम्मानित किया।
इस अवसर पर उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष जुलाई-अगस्त महीने के दौरान पूरे प्रदेश में भारी बरसात हुई थी, जिसमें लोक निर्माण विभाग के इंजीनियरों, फील्ड स्टाफ तथा  सभी अधिकारियों व कर्मचारियों के बडी तत्परता व सूझबूझ का परिचय देते हुए पूरे प्रदेश की सड़कों को समय अवधि भीतर खोलने के लिए रात-दिन 24 घण्टे सराहनीय कार्य कर लोगों के लिए यातायात सुविधा बहाल की और कुछ स्थानों पर तो सड़क का नामोनिशान ही मिट गया था, उस सड़क को भी पुलों के माध्यम से बहाल किया गया जोकि विभाग के इंजीनियरों, अधिकारियों व कर्मचारियों की कार्य दक्षता को दर्शाता है इसी उद्देश्य से सरकार द्वारा ऐसे इंजीनियरों एवं फील्ड स्टाफ के अधिकारियों व कर्मचारियों को एक बड़े मंच पर सम्मानित करने का निर्णय लेकर आज सम्मानित किया  गया है।
उन्होंने सम्मान प्राप्त करने वाले सभी 31 इंजीनियरों एवं फील्ड स्टाफ के अधिकारियों व कर्मचारियों को बधाई देते हुए कहा कि इंजीनियरों के कार्य के प्रति समर्पण भाव को देखते हुए भविष्य में भी ऐसे सम्मान कार्यक्रम आयोजित करवाए जाएंगे, जिसमें अच्छे कार्य करने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों को सम्मानित किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि विकट स्थितियों के बावजूद सभी ने अपने-अपने क्षेत्र में जो उन्हें जिम्मेदारी दी गई थी उसे बखूबी निभाया है। उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि उनके सहयोग व  सड़क बहाली के लिए अधिक से अधिक राशि लोक निर्माण विभाग को स्वीकृत करने के कारण हम पूरे प्रदेश की सड़कों  को समय अवधि के भीतर खोल पाएं है। पिछले वर्ष ऊपरी शिमला क्षेत्र में  भारी बरसात के कारण बहुत ज्यादा नुकसान हुआ था जबकि सेब की फसल तैयार थी।  सरकार के  दृढ़ निश्चय से और सभी के सहयोग से सड़को को शीघ्र बहाल किया गया जिससे बागवानों की सेब की एक-एक पेटी मण्डियों तक पहुंचाने में सफलता हासिल हुई । उन्होंने कहा कि  बागवानों की  सभी सड़कों सहित प्रदेश की हर छोटी-बड़ी सड़क को समय अवधि के भीतर खोला गया।

मुख्य संसदीय सचिव लोक निर्माण, स्वास्थ्य तथा आई एंड पीआर संजय अवस्थी ने कहा कि प्रदेश के लिए भारी बरसात एवं आपदा का समय बहुत मुश्किल समय था, जिससे उभरने के लिए लोक निर्माण विभाग के समस्त इजीनियरों, अधिकारियों व कर्मचारियों ने सामान्य स्थिति मे लाने के लिए भरसक प्रयास किए है, जिसके लिए वह बधाई के पात्र है।

कैबिनेट मंत्री विक्रमादित्य सिंह ने आपदा काल के दौरान पूरे प्रदेश में सड़के खोलने के लिए उत्कृष्ट एवं प्रशंसनीय कार्य करने वाले लोक निर्माण विभाग के 31 इंजीनियरों व फील्ड स्टाफ के अन्य अधिकारियों व कर्मचारियों को सम्मानित किया, जिसमें अधिशाषी अभियंता मनाली मण्डल अनुप कुमार शर्मा,  अधिशाषी अभियंता राजकीय उच्च मार्ग रामपुर के.एल.सुमन,  अधिशाषी अभियंता यांत्रिक अमित शर्मा, सहायक अभियंताओं में नरेन्द्र कुमार, विनायक कश्यप, अलोक जनवेजा, मनीष ठाकुर, अखिल चौहान, कनव बडोतरा, भीम सिंह नेगी, डी.के. नाग तथा भावेश चतुर्वेदी, कनिष्ठ अभियंताओं में चन्द्र भानू, बांकू दीन कुरैशी, मनोज कुमार शर्मा, अभिमन्यु मैहरा, साहिल चौधरी, कृष्ण कुमार, जसवंत कुमार, शीतल शर्मा, मीनस शर्मा, वर्क इन्सपैक्टरों में अमित कुमार, हरवंस कुमार, शंकर देव, मैकेनिकल टेक्निशियन, जेसीबी ऑपरेटरों तथा बेलदरों में मिलाप सिंह, संजीव कुमार, सुभाष सिंह, गिरधारी लाल, डण्डू लाल, विजय कुमार, श्याम लाल इत्यादि को प्रशस्ति पत्र व मोमेंटो देकर सम्मानित किया गया। 
इस अवसर पर  प्रमुख अभियंता इंजीनियर अजय गुप्ता, सचिव (आईआरसी) इंजीनियर जसवंत सिंह, मुख्य अभियंता ई. सुरेश कपूर, ई.नरेन्द्र पाल सिंह चौहान, कैप्टन सुरेन्द्र पाल जगोता, अलग-अलग सर्कल के अधीक्षण अभियंता,  अधिशाषी अभियंता तथा अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

By admin

Leave a Reply

%d