धर्मशाला, 21 सितंबर । पोषण माह के अंतर्गत वीरवार को धर्मशाला के बगली वृत राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला मंदल में पौषाहार को लेकर महिलाओं को जागरूक किया गया। इस दौरान दो महिलाओं की गोद भराई परंपरा का निर्वहन भी किया तथा विधालय की होनहार छात्रा अंशिका को सम्मानित भी किया गया। कार्यक्रम के दौरान जिला कार्यक्रम अधिकारी अशोक शर्मा ने पोषण माह के महत्व के बारे में कहा कि जन्म से 6 माह की आयु तक बच्चे के स्वास्थ्य के लिए माँ का दूध ही सर्वोतम होता है और इस दौरान बच्चे को कोई भी अन्य पदार्थ नहीं दिया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि उन बच्चों का आईक्यू लेवल सबसे अधिक होता है जिन्होंने सबसे अधिक माँ का स्तनपान किया होता है। उन्होंने कहा कि जैसे ही बच्चा 6 माह का हो जाता है तो तुरंत ही उसे अन्य पोषण भी देना शुरू कर देना चाहिए इसके साथ ही उन्होंने उपस्थित किशोरियों व महिलाओं को भी शरीर में हीमोग्लॉबिन की कमी से होने वाली समस्याओं से भी अवगत करवाया गया।


इस  अवसर पर पर्यवेक्षक संजीव कुमार ,पंचायत प्रधान मंदल  रंजीत सिंह, उपप्रधान राकेश चौधरी, महिला मंडल प्रधान सुजाता  स्थानीय विद्यालय की प्रिंसिपल सुमन चौधरी के साथ प्रवक्ता नीलम व रीता सहित गाँव की 60 महिलाएं उपस्थित थीं।

By admin

Leave a Reply

%d bloggers like this: