राजस्व, बागवानी एवं जनजातीय विकास मंत्री जगत सिंह नेगी ने कहा कि समाज को एकजुट करने और जन आकांक्षाओं को उचित माध्यम प्रदान करने में समाज सेवी संस्थाएं महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। जगत सिंह नेगी आज सोलन के कोठों स्थित सभागार में स्वर्णिम हिमाचल जन जागरण समिति द्वारा आयोजित राज्य स्तरीय ‘स्नेह मिलन कार्यक्रम-2023’ को बतौर मुख्यातिथि सम्बोधित कर रहे थे।


जगत सिंह नेगी ने इससे पूर्व प्रसिद्ध जटोली महादेव मंदिर में पूजा-अर्चना की और प्रदेशवासियों के सुख व समृद्ध जीवन की कामना की। राजस्व मंत्री ने स्नेह मिलन कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है और इसे एक माला में जोड़े रखने के लिए संविधान की अनुपालना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि संविधान देशवासियों को सही मार्ग पर चलना सिखाता है और संविधान के अनुरूप कार्य करना सभी का कर्तव्य है।


जगत सिंह नेगी ने कहा कि मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू के नेतृत्व में प्रदेश विकास की राह पर तीव्रता के साथ अग्रसर हो रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य में प्रत्येक क्षेत्र में विकास के लिए नई कल्याणकारी योजनाएं आरम्भ की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि कुछ योजनाओं के लाभ आम जन को मिलने आरम्भ हो गए हैं जबकि अन्य योजनाओं के लाभ शीघ्र सामने आएंगे।  
बागवानी मंत्री ने कहा कि प्रदेश को फल राज्य के रूप में विकसित करने के उद्देश्य से शिवा परियोजना आरम्भ की जाएगी जिसके तहत फल की पैदावार में बढ़ौतरी के लिए आधुनिक तकनीक को अपनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस परियोजना से जहां बागवानों की आर्थिकी में सुधार होगा वहीं युवाओं के लिए स्वरोज़गार के अवसर भी सृजित होंगे।


जगत सिंह नेगी ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में औद्योगिक और गैर-मादक उपयोग के लिए भांग की खेती शुरु करने के विषय में प्रदेश सरकार सभी पहलुओं पर विचार कर रही है। उन्होंने कहा कि कैंसर जैसी बीमारी के उपचार सहित अन्य बीमारियों में भांग का उपयोग किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस कदम से जहां हिमाचल प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं के क्षेत्र में भांग का औषधी के रूप में लाभ मिलेगा वहीं इससे वस्त्र इत्यादि निर्मित कर प्रदेश की आर्थिकी को और मज़बूत किया जाएगा।
जगत सिंह नेगी ने इस अवसर पर योग क्रियाओं का आकर्षक प्रदर्शन करने वाली कांगड़ा की कुमारी अंवतिका को अपनी ऐच्छिक निधि से 25 हजार रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने कुमारी अंवतिका को इस कार्यकाल में अपनी ऐच्छिक निधि से हर वर्ष 25 हजार रुपये छात्रवृत्ति के रूप में प्रदान करने की घोषणा भी की।


उन्होंने इस अवसर पर ब्रह्मकुमारी वी.के शकुंतला, योगी रणजीत सिंह, दीप कुमार, उपमंडलाधिकारी कुमारसेन सुरेन्द्र मोहर, बखशीश वीर, जगमोहन नेगी, कुलभूषण गुप्ता, विमला पोखरियाल वर्मा, विनीत ठाकुर, एस.एन.ए. गिलानी, नरेन्द्र कविल कीर्ति नेगी, गायक विक्की चौहान, प्रो. निर्मल सिंह, नन्दन शर्मा और वरिष्ठ समाजसेवी दयाल प्यारी को सम्मानित किया। उन्होंने गुरूद्वारा सिंह सपरून के अध्यक्ष गमिन्द्र सिंह सहित विभिन्न संस्थाओं और समाज कार्यकर्ताओं को उत्कृष्ठ कार्य करने के लिए सम्मानित भी किया। इस अवसर पर रंगारंग सांस्कृतिक भी प्रस्तुत किए गए।    

By admin

Leave a Reply

%d