SAMNA NEWS

राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम का प्रभावी क्रियान्वयन तय बनाएगी जिला समन्वय समिति

धर्मशाला, 9 जनवरी। कांगड़ा जिले में राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम को प्रभावी तरीके से लागू करने के लिए जिला स्तरीय समन्वय समिति का गठन किया गया है। डीसी कांगड़ा की अध्यक्षता में गठित इस कमेटी में सरकारी और गैर सरकारी सदस्य मिलाकर 18 लोग हैं। समिति जिले में तंबाकू नियंत्रण कानून के प्रभावी क्रियान्वयन के साथ साथ तंबाकू के हानिकारक प्रभावों के बारे में जन जागरूकता बढ़ाने के प्रयासों को गति देगी। उपायुक्त डॉ. निपुण जिंदल ने बताया कि जिला स्तरीय समन्वय समिति कांगड़ा जिले में सिगरेट और अन्य तंबाकू उत्पाद अधिनियम 2003 का प्रभावी क्रियान्वयन तय बनाएगी। इसके लिए जिला और खंड स्तरों पर गठित उड़न दस्तों को सक्रिय किया जाएगा। समिति जिले में परामर्श सेवाओं और उपचार के जरिए तंबाकू उन्मूलन सेवाओं को सुदृढ़ करने की दिशा में प्रयास करेगी।


उन्होंने कहा कि जिले में पंचायतों और संस्थानों को तंबाकू मुक्त आदर्श पंचायत तथा संस्थान बनाने के लिए काम किया जाएगा। शिक्षण संस्थानों में तंबाकू मुक्त आदर्श संस्थान को लेकर जारी दिशा-निर्देशों का पालन तय बनाने के साथ ही तंबाकू वेंडर अधिनियम 2016 को प्रभावी तरीके से लागू करने पर जोर रहेगा। सभी माध्यमों से तंबाकू के हानिकारक प्रभावों के बारे में जन जागरूकता बढ़ाने का काम किया जाएगा। साथ ही हुक्का बार की प्रवृत्ति और परोक्ष तरीके से चलने वाले तंबाकू उत्पादों के विज्ञापन की रोकथाम के लिए कदम उठाए जाएंगे। समिति स्थानीय स्तर ऐसे रोल मॉडल भी तलाशेगी जो तंबाकू मुक्ति अभियान में लोगों के लिए उदाहरण बनें और उन्हें जागरूकता अभियान में उपयोग किया जा सके।


ये हैं जिला स्तरीय समन्वय समिति में शामिल
उपायुक्त कांगड़ा की अध्यक्षता में गठित इस कमेटी में मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी को सदस्य सचिव बनाया गया है। कमेटी में पुलिस अधीक्षक कांगड़ा, उप राज्य उत्पाद शुक्ल एवं कराधान आयुक्त, उप निदेशक उच्च शिक्षा, उप निदेशक प्रारंभिक शिक्षा, जिला पंचायत अधिकारी, जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान के प्रधानाचार्य, राजकीय डिग्री कॉलेज धर्मशाला के प्रधानाचार्य, जिला लोक संपर्क अधिकारी, डॉ. राजेंद्र प्रसाद राजकीय मेडिकल कॉलेज टांडा के कम्युनिटी दवा विभाग के प्रतिनिधि, राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम के जिला अधिकारी, जिला दवा एवं खाद्य आपूर्ति अधिकारी, सहायक आयुक्त खाद्य सुरक्षा, सहायक दवा नियंत्रक और जोनल अस्पताल धर्मशाला के क्लीनिकल साइकोलॉजिस्ट समिति में सरकारी सदस्य तथा  रोटरी क्लब धर्मशाला के अध्यक्ष, राजकीय डिग्री कॉलेज धर्मशाला से सेवानिवृत प्रधानाचार्य डॉ विजय शर्मा और गुंजन संस्था के कार्यकारी निदेषक संदीप परमार गैर सरकारी सदस्य के रूप में समिति में शामिल हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: