SAMNA NEWS

चुनावों को लेकर कांगड़ा जिले में 301 माइक्रो ऑब्जर्वर तैनात

धर्मशाला, 2 नवंबर। जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त डॉ. निपुण जिंदल ने कहा कि कांगड़ा जिले में विधानसभा चुनावों को लेकर 301 माइक्रो ऑब्जर्वर लगाए गए हैं। वे जिले में वल्नरेबल और क्रिटिकल मतदान केंद्रों पर तैनात रहेंगे। उन्होंने बताया कि जिले में 1625 मतदान केंद्र बनाए गए हैं, इसके अलावा बड़ा भंगाल और धर्मशाला के सिद्धपुर में 2 सहायक मतदान केंद्र स्थापित किए गए हैं। 291 वल्नरेबल, 158 क्रिटिकल मतदान केंद्र हैं। वल्नरेबल और क्रिटिकल मतदान केंद्रों की वेब कास्टिंग की जाएगी। वहीं छोटा भंगाल के बड़ा ग्रां मतदान केंद्र में नेटवर्क की अनुपलब्धता के कारण वीडियोग्राफी की व्यवस्था रहेगी।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि 158 क्रिटिकल मतदान केंद्रों पर माइक्रो ऑब्जर्वर और अर्धसैनिक बल की आधी टुकड़ी तैनात की जाएगी, जबकि 291 वल्नरेबल मतदान केंद्रों में से 143 पर एहतियातन माइक्रो ऑब्जर्वर लगाए गए हैं। शेष 148 वल्नरेबल मतदान केंद्रों में वेबकास्टिंग के साथ वीडियोग्राफी के इंतजाम रहेंगे। पहली नवंबर को सामान्य पर्यवेक्षक और राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में माइक्रो ऑब्जर्वर की रैंडमाइजेशन की जा चुकी है। अतिरिक्त उपायुक्त गंधर्वा राठौड़ के निर्देशन में 6 नवंबर को प्रातः 11 बजे राजकीय पीजी डिग्री कॉलेज धर्मशाला के सभागार में माइक्रो ऑब्जर्वर के लिए प्रशिक्षण रखा गया है।
जिले में अब तक 366 मतदाताओं ने घर से डाला वोट
जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि कांगड़ा जिले में विधानसभा चुनाव के लिए घर से मत पत्र व पोस्टल बैलेट से मतदान की प्रक्रिया पहली नवंबर से आरंभ हो गई है। उन्होंने बताया कि पहली नवंबर को जिले में विशेष मोबाइल दस्तों ने 366 मतदाताओं के घर जाकर पूरी गोपनीयता के साथ मतदान प्रक्रिया पूर्ण कराई।
उन्होंने बताया कि जिले के कुल 7 हजार 19 मतदाताओं ने घर से मतदान का विकल्प चुना है। इनमें 80 वर्ष से अधिक आयु के 5 हजार 606 मतदाता और 1413 दिव्यांग मतदाता शामिल हैं। इन सभी के मतदान के लिए निर्वाचन विभाग के 122 विशेष मोबाइल दस्ते बनाए गए हैं। उन्होंने बताया कि ये दस्ते 11 नवंबर तक जिले में इन मतदाताओं के घर-घर जाकर मतदान प्रक्रिया पूर्ण करवाएंगे।
7852 कर्मचारी चुनावी ड्यिूटी पर
डॉ. निपुण जिंदल ने बताया कि कांगड़ा जिले में 7852 कर्मचारी चुनावी ड्यिूटी पर रहेंगे। चुनाव कर्मियों के प्रशिक्षण एवं पूर्वाभ्यास को लेकर एक रिहर्सल की जा चुकी है। दूसरी रिहर्सल 4 और 5 नवंबर को कर्मचारियों के संबंधित कार्यक्षेत्र में संपन्न होगी। उनकी तीसरी और अंतिम रिहर्सल 9 नवंबर को चुनावी ड्यिूटी से संबंधित विधानसभा क्षेत्रों में होगी, जिसके उपरांत पोलिंग पार्टियां अपने-अपने मतदान केंद्रों के लिए रवाना होंगी।  

Leave a Reply

%d bloggers like this: