SAMNA NEWS

कुपवी में 180 करोड़ रुपये की 46 विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास

शिमला 28 नवम्बर, 2021 मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज जिला शिमला के चैपाल विधानसभा क्षेत्र के कुपवी में 180 करोड़ रुपये लागत की 46 विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण एवं शिलान्यास किए। कुपवी में विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कुपवी में उप-मंडलाधिकारी (नागरिक) कार्यालय तथा राजकीय महाविद्यालय खोलने की घोषणा की। उन्होंने बलघार में लोक निर्माण विभाग, जल शक्ति विभाग तथा हिमाचल प्रदेश राज्य बिजली बोर्ड लिमिटेड के कनिष्ठ अभियन्ता अनुभाग खोलने की भी घोषणा की। उन्होंने कोठी-हलोग में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खोलने तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र छैला को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में स्तरोन्नत करने की घोषणा की। उन्होंने पशु औषधालय पुलबाहल को पशु अस्पताल में स्तरोन्नत करने तथा चैपाल के गडाला में हैलीपेड के निर्माण की भी घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज 180 करोड़ रुपये की लागत की परियोजनाओं के किए गए लोकार्पण तथा शिलान्यास क्षेत्र के लोगों के जीवन में बदलाव लाएंगे तथा विकास को नए आयाम देंगे। उन्होंने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार बिना बदले की भावना के प्रदेश के समान विकास को सुनिश्चित करने के लिए कार्यरत है। उन्होंने कहा कि सरकार ने पहले दिन से ही यह सुनिश्चित किया है कि किसी को भी राजनीतिक रूप से प्रताडि़त न किया जाए तथा प्रदेश के विकास पर विशेष बल दिया गया है।

जय राम ठाकुर ने पूर्व प्रदेश सरकार को टोपियों के रंग पर भी लोगों को विभाजित करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि गत लगभग चार वर्षों में प्रदेश सरकार ने सुनिश्चित किया है कि प्रदेश के सभी क्षेत्रों तथा समाज के सभी वर्गों को सरकार द्वारा आरम्भ की गई योजनाओं तथा नीतियों का लाभ मिलें। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने अपने प्रथम निर्णय में वृद्धजनों के कल्याण को लक्षित किया तथा वृद्धजनों के लिए पेंशन प्राप्त करने की आयु सीमा को 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष किया। उन्होंने कहा कि आज लाखों वृद्धजनों को प्रतिमाह 1500 रुपये की पेंशन प्रदान की जा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना के तहत प्रदेश में पात्र परिवारों को 3.25 लाख घरेलू गैस कनैक्शन प्रदान किए गए हैं। उन्होंने कहा कि हिमकेयर योजना के तहत 2.07 लाख परिवार लाभान्वित हुए हैं। मुख्यमंत्री सहारा योजना के तहत गंभीर रूप से बीमार मरीजों के परिवारों को तीन हजार रुपये प्रतिमाह प्रदान किए जा रहे हैं तथा लगभग 17 हजार व्यक्ति इस योजना के तहत पंजीकृत हैं। उन्होंने कहा कि जनमंच तथा मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाइन-1100 जनता की समस्याओं के निवारण के लिए वरदान साबित हुई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में बी.पी.एल. परिवारों की कन्याओं को विवाह के समय 31000 हजार रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए शगुन योजना शुरू की गई है। उन्होंने कहा कि इन सभी योजनाओं ने प्रदेश तथा जनता की आर्थिकी में बदलाव लाया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार ने अपने विकास में व्यस्त होने के कारण आम आदमी के कल्याण के लिए कुछ नहीं किया है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए उठाए गए कदमों की सराहना स्वयं प्रधानमंत्री तथा अन्य राज्यों ने की है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस गत लगभग 50 वर्षों तक प्रदेश तथा केंद्र में सत्ता में रही है। उन्होंने कहा कि लगभग तीन वर्ष पूर्व प्रदेश में केवल 2 आक्सीजन संयंत्र थे जबकि आज प्रदेश में 32 आक्सीजन संयंत्र है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के आरम्भ में प्रदेश में केवल 50 वेंटिलेटर थे। उन्होंने कहा कि उन्होंने यह मामला प्रधानमंत्री के समक्ष प्रस्तुत किया तथा प्रदेश के लिए पी.एम. केयर के तहत तुरन्त 500 नए वेंटिलेटर प्रदान किए गए। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में 1000 से अधिक क्रियाशील वंेटिलेटर उपलब्ध है।

उन्होंने ठेकेदारों को निर्देश दिए कि सभी विकासात्मक कार्यों को निर्धारित समयावधि में पूर्ण करें अन्यथा उनके खिलाफ सख्त कारवाई की जाएगी। उन्होंने क्षेत्र के विकास में विशेष रूचि लेने के लिए स्थानीय विधायक की सराहना की।

इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने सैज-चैपाल-नेरवा-फेडज सड़क पर खदरनाला के ऊपर 3.46 करोड़ रुपये की लागत से 10 मीटर स्पैन पुल, 56 लाख रुपये की लागत से चैपाल में पशु अस्पताल के भवन, 8.04 करोड़ रुपये की लागत से चपांदली से छैला सड़क, 6.45 करोड़ रुपये की लागत से रियूणी से खगना सड़क, 2 करोड़ रुपये की लागत से भुट्टी से पन्देर सम्पर्क मार्ग, 1.85 करोड़ रुपये की लागत से घोमा बलसन में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के भवन, 2.10 करोड़ रुपये की लागत से ठियोग-हाटकोटी राष्ट्रीय उच्च मार्ग पर गिरी नदी के ऊपर पुल, 89 लाख रुपये की लागत से तहसील नेरवा में गे्रविटी जलापूर्ति योजना से क्यार-नेरवा, 86 लाख रुपये की लागत से तहसील चैपाल ग्राम पंचायत चांजू की क्यारटू-2 शिल्ली की बस्तियों के लिए उठाऊ जलापूर्ति योजना, एक करोड़ रुपये की लागत से तहसील चैपाल की ग्राम पंचायत सरी गांव के लिए उठाऊ जलापूर्ति योजना पटयाल खड्ड, 6.86 करोड़ रुपये की लागत से तहसील कुपवी की ग्राम पंचायत कुलाग, नौरा-बौरा की बागवानी/कृषि भूमि के लिए उठाऊ सिंचाई योजना, 3.01 करोड़ रुपये की लागत से तहसील चैपाल की ग्राम पंचायत थाना की बागवानी भूमि के उठाऊ सिंचाई योजना, 2.14 करोड़ रुपये की लागत से डी.डी.यू.जी.जे.वाई. (नेरवा में 22 के.वी. के कन्ट्रोल प्वाइंट), 96 लाख रुपये की लागत से मौजूदा 22 के.वी. के आर.एम.यू. को वी.सी.बी. (झिकानीपुल में 22 के.वी. के कन्ट्रोल प्वाइंट) बदलने तथा सुदृढ़ करने, 9.22 करोड़ रुपये की लागत से समेकित ऊर्जा विकास योजना (चैपाल शहर) 1.23 करोड़ रुपये की लागत से तहसील ठियोग में गिरी खड्ड कराहु से देहनधार के लिए उठाऊ जलापूूर्ति योजना तथा 1.03 करोड़ रुपये की लागत से ग्राम पंचायत कुठाड़ में डवाडा खड्ड से खारकु गांव के लिए उठाऊ जलापूर्ति योजना का लोकार्पण किया।

मुख्यमंत्री ने 10.74 करोड़ रुपये की सहायता से छंजलपुल से रेवलपुर सिहारा, जैली, ग्राम पंचायत बटलूधार शिलाभा, कुलाबटारा सड़क की मेटलिंग व टारिंग तथा शेष कार्य, 8.55 करोड़ रुपये की लागत से मरोग से गोरली तीनखम्बा बुलटी नाला सड़क की मेटलिंग, टारिंग तथा स्तरोन्नयन, 52 करोड़ रुपये की लागत से चारूवाधार से गाओंचा सड़क, 2.32 करोड़ की लागत से नेरवा में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला के भवन, 1.71 करोड़ रुपये की लागत से राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला थरोच की विज्ञान प्रयोगशाला, 2.32 करोड़ रुपये की लागत से राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला चैपाल में छात्रा छात्रावास, 5.71 करोड़ रुपये की लागत से नाबार्ड के तहत शलोवा घूंड कोट परगया सड़क, 62 लाख रुपये की लागत से तहसील ठियोग के दम्याणा मेें राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला के भवन, 82 लाख रुपये की लागत से तहसील ठियोग में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला नेरी नगर के भवन, 1.85 करोड़ रुपये की लागत से तहसील के दयोठी में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला के भवन तथा 8.37 करोड़ रुपये की लागत से तहसील ठियोग में 62 मीटर स्पैन बजरौलीपुल पुल का शिलान्यास किया।

जय राम ठाकुर ने 17.44 करोड़ रुपये की लागत से जलशक्ति उप-मंडल कुपवी के तहत विभिन्न बस्तियों के लिए उठाऊ जलापूर्ति योजना, 13.52 करोड़ रुपये की लागत से जलशक्ति उप-मंडल चैपाल के तहत विभिन्न बस्तियों के लिए उठाऊ जलापूर्ति योजना, 2.57 करोड़ रुपये की लागत से चैपाल विधानसभा क्षेत्र में जल जीवन मिशन के तहत क्रियाशील घरेलू नल कनैक्शन प्रदान करने के लिए एन.आर.डी.डब्ल्यू.पी. के तहत 28 ग्रेविटी जलापूर्ति योजना/उठाऊ जलापूर्ति योजना की रेट्रोफिटिंग, 2.44 करोड़ रुपये की लागत से जल जीवन मिशन के तहत क्रियाशील घरेलू नल कनैक्शन प्रदान करने के लिए एन.आर.डी.डब्ल्यू.पी. के तहत 5 उठाऊ जलापूर्ति योजना की रेट्रोफिटिंग, 23 लाख रुपये की लागत से ग्राम पंचायत चंाजु में ग्रेविटी जलापूर्ति योजना जय ग्राह, सदराड़ा, धनकर, मंडल तथा शिल्ली, की री-माॅडलिंग व सवंर्धन, जलशक्ति उपमण्डल कुपवी के तहत 2.63 करोड़ रुपये की लागत से शेष बचे घरों को नल कनैक्शन प्रदान करने, जलशक्ति उपमण्डल नैरवा के तहत 7.26 करोड़ रुपये की लागत से शेष बचे घरों को नल कनैक्शन प्रदान करने, ग्राम पंचायत चांजु में 90 लाख रुपये की लागत से उठाऊ पेयजल योजना दोची-लालपानी-एचबी धनौट, तहसील चैपाल की ग्राम पंचायत देवर में 45 लाख रुपये की लागत से डुईना नाला से लोअर बटसेरी के लिए ग्रेवटी जलापूर्ति योजना और ग्राम पंचायत जुरू शलाल में 2.21 करोड़ रुपये की लागत से बहाव सिंचाई योजना का भी शिलान्यास किया।

मुख्यमंत्री ने एनएसी चैपाल के लिए 11.43 करोड़ रुपये की लागत की मल निकासी परियोजना, ग्राम पंचायत बगैण में 1.96 करोड़ रुपये की लागत से गिरी खड्ड से गांव अप्पर बनाल केहराली के लिए उठाऊ पेयजल आपूर्ति योजना, ग्राम पंचायत देवठी में 90 लाख रुपये की लागत से नैरी मनियाणा और देवठी पटाड़ा बहाव सिंचाई योजना के सुधार कार्य, तहसील ठियोग की ग्राम पंचायत घोड़ना में 31 लाख रुपये की लागत से नेहरा खड्ड से शिरगुली के लिए उठाऊ पेयजल आपूर्ति योजना, 4.98 करोड़ रुपये की लागत से पुलिस थाना भवन कुपवी, 50 लाख रुपये की लागत से पुलिस थाना देहा, बागवानी विकास परियोजना के तहत 9.07 करोड़ रुपये लागत के कलस्टर और 4.35 करोड़ रुपये की लागत से सैंज उपमण्डल में ट्रांसफार्मर के संवर्धन और पुलबाहल-देहा और छैला आउटगोइंग फीडरों के संवर्धन कार्यों के शिलान्यास किए।

चैपाल के विधायक बलवीर वर्मा ने मुख्यमंत्री का अपने विधानसभा क्षेत्र में पधारने पर स्वागत करते हुए कहा कि दूरदराज क्षेत्र होने के कारण विकास के मामले में कुपवी क्षेत्र को विशेष प्राथमिकता देने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि कुछ सड़क परियोजनाएं एफसीए स्वीकृतियों के कारण लम्बित हैं इसलिए यह स्वीकृतियां शीघ्र प्राप्त करने के लिए प्रयास किए जाने चाहिए ताकि क्षेत्र में सड़क नेटवर्क मजबूत किया जा सके। उन्होंने कहा कि चैपाल विधानसभा क्षेत्र में 500 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाएं कार्यान्वित की जा रही हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री से कुपवी में एसडीएम कार्यालय खोलने का आग्रह किया क्योंकि चैपाल का एसडीएम मुख्यालय इस क्षेत्र से 100 किलोमीटर से भी अधिक दूर है। उन्होंने मुख्यमंत्री से कुपवी में राजकीय महाविद्यालय और बलघार में आईटीआई खोलने का भी आग्रह किया। उन्होंने कहा कि वह वर्ष 2022 के आम चुनावों में भाजपा की जीत सुनिश्चित करेंगे।

राज्य नागरिक आपूर्ति निगम के उपाध्यक्ष बलदेव तोमर ने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर राज्य के दुर्गम क्षेत्रों के लोगों की विकासात्मक मांगों के प्रति सदैव ही संवेदनशील रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने हमेशा यह सुनिश्चित किया है कि राज्य के अन्य क्षेत्रों की ही तरह पिछड़े क्षेत्र भी समृद्ध हों।

मण्डलाध्यक्ष मंगत राम शर्मा और पंचायत समिति के अध्यक्ष श्याम सिंह पंवर ने मुख्यमंत्री और इस अवसर पर उपस्थित अन्य गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत किया और क्षेत्र की विभिन्न मांगों से अवगत करवाया।

भाजपा के राज्य प्रवक्ता शशि दत्त शर्मा, महासु के प्रभारी बिहारी लाल शर्मा, पंचायत समिति के पूर्व अध्यक्ष सही राम चैहान, भाजपा कार्य समिति के सदस्य अमित चैहान, उपायुक्त शिमला आदित्य नेगी और अन्य गणमान्य व्यक्ति इस अवसर पर भी उपस्थित थे।

.0.

Leave a Reply

%d bloggers like this: