SAMNA NEWS

शुरू हुआ काउंटिंग का काउंटडाउन…

धर्मशाला, 7 दिसंबर। कांगड़ा जिले में विधानसभा निर्वाचन की मतगणना को लेकर पूरी तैयारी कर ली गई है। जिला निर्वाचन अधिकारी (उपायुक्त) डॉ. निपुण जिंदल ने कहा कि कांगड़ा जिले में 8 दिसंबर को सुबह 8 बजे से सभी 15 विधानसभा क्षेत्रों के वोटों की गिनती आरंभ होगी। सबसे पहले डाक मतपत्र गिनने की शुरुआत होगी और इस प्रक्रिया के आरंभ होने के आधे घंटे बाद ईवीएम के वोटों की गिनती शुरू की जाएगी। जिले की 15 सीटों के लिए 13 उपमंडलों में मतगणना का कार्य किया जाएगा। डॉ. निपुण जिंदल ने धर्मशाला में बुधवार को आयोजित पत्रकार वार्ता में यह जानकारी दी। इस दौरान अतिरिक्त उपायुक्त गंधर्वा राठौड़, अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी रोहित राठौर, सहायक आयुक्त(प्रोबेशनर आइएएस) ओमकांत ठाकुर उनके साथ रहे।


ईवीएम काउंटिंग के लिए 161, डाक मतपत्र गिनने को 46 टेबल
जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि जिले में कुल 207 टेबलों पर वोटों की गिनती होगी। जिनमें ईवीएम के वोटों की गिनती के लिए 161 टेबल और डाक मतपत्रों द्वारा मतगणना के लिए 46 टेबल स्थापित किए गए हैं। मतगणना औसतन 8 से 12 राउंड में पूर्ण होगी। विधानसभा वार ईवीएम के वोटों की गिनती के लिए 9 से 14 टेबल लगाए गए हैं। अधिकतम 14 टेबल विधानसभा क्षेत्र जयसिंहपुर और नूरपुर तथा न्यूनतम 9 टेबल पालमपुर विधानसभा क्षेत्र में हैं।


अधिकतम 12 और न्यूनतम 8 राउंड में पूरी होगी वोटों की गिनती
डॉ. निपुण जिंदल ने बताया कि कांगड़ा जिले में अधिकतम 12 और न्यूनतम 8 राउंड में वोटों की गिनती पूरी होगी। जयसिंहपुर विधानसभा क्षेत्र के 112 मतदान केंद्रों के वोटों की गिनती के लिए 14 टेबल लगाए गए हैं तथा वहां 8 राउंड में मतगणना पूर्ण होगी। इसके अलावा फतेहपुर, ज्वाली, जसवां परागपुर और शाहपुर में 12 राउंड में वोटों की गिनती पूरी होगी। फतेहपुर विधानसभा क्षेत्र के 112 मतदान केंद्र, विधानसभा क्षेत्र ज्वाली के 117 मतदान केंद्र, जसवां परागपुर के 111 तथा शाहपुर के 117 मतदान केंद्रों के वोटों की गिनती के लिए 10-10 टेबल लगाए गए हैं। वहीं, विधानसभा क्षेत्र ज्वालामुखी, सुलह, नगरोटा, कांगड़ा और बैजनाथ में मतों की गणना 11 चरणों में पूर्ण होगी। ज्वालामुखी के 102, नगरोटा के 105, कांगड़ा के 101 और बैजनाथ के 106 मतदान केंद्रों के वोटों को गिनने के लिए 10-10 टेबल लगाए गए हैं। सुलह के 130 मतदान केंद्रों के मतों की गिनती 12 टेबलों पर की जाएगी। इसके अतिरिक्त, इंदौरा, देहरा और पालमपुर में मतों की गणना 10 चरणों में पूरी होगी। इंदौरा के 120 मतदान केंद्रों की मतगणना के लिए 12 टेबल, देहरा के 100 मतदान केंद्रों के लिए 10 टेबल तथा पालमपुर के 87 मतदान केंद्रों के मतों की गणना के लिए 9 टेबल लगाए गए हैं। विधानसभा क्षेत्र नूरपुर और धर्मशाला में मतगणना 9 राउंड में पूर्ण होगी। नूरपुर के 117 मतदान केंद्रों के लिए 14 टेबल तथा धर्मशाला के 90 मतदान केंद्रों के लिए 10 टेबल स्थापित किए गए हैं।


8 को सुबह 8 बजे तक स्वीकार किए जाएंगे डाकमत पत्र
जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि 8 दिसंबर को प्रातः 8 बजे तक निर्वाचन अधिकारी के पास पहुंचने वाले सभी डाकमत पत्र स्वीकार किए जाएंगे। जिले में अभी तक 23 हजार 903 डाकमत पत्र प्राप्त हुए हैं। जिनमें 10 हजार 43 डाकमत पत्र चुनावी डियूटी पर तैनात कर्मचारियों से मिले हैं, वहीं 7 हजार 232 सर्विस मतदाताओं से प्राप्त हुए हैं। इसके अलावा 6 हजार 628 मत पत्र घर से मतदान का विकल्प चुनने वाले 80 प्लस और दिव्यांग मतदाताओं के मिले हैं। डाक विभाग को निर्देश दिए गए हैं कि वे डाक से प्राप्त सभी मतपत्रों को संबंधित निर्वाचन अधिकारी के पास 8 दिसंबर को 8 बजे से पूर्व पहुंचाना सुनिश्चित करें। इसके लिए विशेष पोस्टल रनर तैनात किए गए हैं।


डॉ. निपुण जिंदल ने बताया कि कांगड़ा जिले के समस्त 15 विधानसभा क्षेत्रों में मतगणना प्रक्रिया के लिए तैनात मतगणना सुपरवाइजर, मतगणना सहायक तथा माइक्रो ऑब्जर्वर की रेंडमाइजेशन की जा चुकी है। तीसरी रेंडमाइजेशन मतगणना आंरभ होने से पूर्व संबंधित मतगणना केंद्र पर निर्वाचन अधिकारी तथा केंद्रीय प्रेक्षक की उपस्थिति में संपन्न होगी। मतगणना के लिए रिजर्व कर्मियों सहित लगभग 1 हजार अधिकारियों और कर्मचारियों को लगाया गया है, और मतगणना कार्य को लेकर उन्हें 3 चरणों में पूर्वाभयास कराकर पूर्ण प्रशिक्षण दिया गया है।


सुरक्षा में तैनात रहेंगे 700 से अधिक जवान
जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार सभी मतगणना केंद्रों और उनके आस-पास सुरक्षा व्यवस्था को चाक चौबंद किया गया है। मतगणना केंद्रों पर जिले भर में 700 से अधिक पुलिस जवान तैनात रहेंगे। इसके अलावा मतगणना स्थलों पर त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था रहेगी।
मतगणना केंद्रों के 100 मीटर की परिधि में केवल पैदल आवाजाही की ही अनुमति होगी। मतगणना केंद्रों के 100 मीटर घेरे के अंदर वाहन की एंट्री प्रतिबंधित रहेगी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: