SAMNA NEWS

वीरेन्द्र कंवर ने पठियार में रखी स्वच्छता कैफे की आधारशिला

धर्मशाला, 14 दिसम्बर: कृषि, ग्रामीण विकास, पंचायती राज, पशुपालन एवं मछली पालन मंत्री  वीरेंद्र कंवर ने कहा कि ने कहा कि सामाजिक गतिविधियों एवं विकास में महिलाओं की सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित करने तथा उन्हें सशक्त व सक्षम बनाने के लिए प्रभावशाली योजनाएं आरंभ की गई हैं। समावेशी समाज के निर्माण में महिलाओं की भूमिका महत्वपूर्ण है। पठियार में रखी स्वच्छता कैफे की आधारशिला. वीरेन्द्र कंवर आज नगरोटा बगवां विधान सभा क्षेत्र के पठियार में 50 लाख रुपये की लागत से बनने वाले स्वच्छता कैफे का शिलान्यास करने के उपरांत उपस्थित जनसमूह को सम्बोधित करते हुए बोल रहे थे। उन्होंने पठियार में स्वच्छता कैफे बनाए जाने की लोगों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि महिला सशक्तिकरण को बढ़ाने और महिलाओं द्वारा बनाये गए स्थानीय उत्पादों को विक्रय करने के लिये दो मंजिला भवन बनाया जा रहा है। राजीव गांधी इंजीनियरिंग कॉलेज नगरोटा बगवां के स्कूल ऑफ आर्किटेक्चर द्वारा बनाये गए प्राकलन में इसका निर्माण पत्थर, बांस और स्लेट इत्यादि के प्रयोग से किया जायेगा। उन्होंने कहा कि दो मंजिला  इस स्वच्छता कैफे में 5 दुकानें, 7 वाहनों के लिये पार्किंग के अतिरिक्त पहली मंजिल में ओपन थिएटर सुविधा उपलब्ध होगी। उन्होंने आर्किटेक्ट द्वारा बनाई गई ड्राईंग की सराहना की।
  वीरेंद्र कंवर ने कहा कि स्वयं सहायता समूह के लिए प्रदेश में इस तरह के 100 आउटलेट बनाए जा रहे हैं। इसके अतिरिक्त मेले और सरस मेलों का आयोजन किया जा रहा है जिससे महिलाएं अपने उत्पादन बेहतर तरीके से बेच सकें। उन्होंने कहा कि स्वयं सहायता समूह के बनाए गए उत्पादों को बेचने के लिए एमाजोन कंपनी से एमओयू साइन किया गया है और इस समय ऐसे 50 उत्पाद एमाजोन पर विक्रय के लिए उपलब्ध हैं।

उन्होंने कहा कि डाक विभाग से भी इन उत्पादों को बेचने के लिए एमओयू साइन किया गया है। उन्होंने कहा कि सहायता समूह को अपने उत्पाद बेचने के लिए बेहतर स्थान उपलब्ध हो इसके लिए भविष्य में आउटलेट की संख्या 1000 तक बढ़ाई जाएगी। उन्होंने कहा कि ग्रामीण महिलाओं की भागीदारी को सुनिश्चित कर 1919 उन्हें सशक्त करने के प्रयास से राष्ट्रीय आजीविका मिशन चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि विधानसभा क्षेत्र में जिला का सबसे बड़ा पशु अस्पताल जोनल अस्पताल के रूप में दिया गया है इसके अतिरक्त चंगर क्षेत्र के लिए खंड विकास कार्यालय दिया गया  है।
  कृषि मंत्री ने कहा कि प्रदेश को कचरा मुक्त बनाने की दिशा में गंभीर प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पठियार, मझेठली, चहाड़ी और हटवास में क्लस्टर लेवल पर गार्बेज डिस्पोजल यूनिट बनाने के लिए 50 लाख रुपए स्वीकृत करने की बात कही। उन्होंने कृषि विभाग को इस क्षेत्र में बीमारी रहित बीज उपलब्धता को सुनिश्चित करने एवं किसानों को प्रशिक्षण एवं आलू की रखरखाव की ट्रेनिंग देने के आदेश दिए।


  उन्हांेने कहा कि पठियार और नगरोटा बगवां में नकदी फसल आलू है और उन्हें शुगर फ्री आलू बीज उपलब्ध हो। उन्होंने कहा कि आलू का बीज जो पहले पांच हजार एक सौ रुपए में दिया जाता था उसका रेट तीन हजार सात सौ रुपये क्विंटल किया गया है, जिससे किसानों को काफी राहत प्राप्त हुई है। उन्होंने कहा जी नगरोटा बगवां क्षेत्र में लावारिस पशुओं से राहत के लिए गौ सदन का निर्माण भी किया जा रहा है और इस गौ सदन की चारदीवारी के लिए गौवंश संवर्धन बोर्ड के माध्यम से डेढ़ करोड रुपए उपलब्ध करवाए जाएंगे। नगरोटा बगवां विधान सभा क्षेत्र के विधायक अरूण मेहरा ने मुख्यातिथि का स्वागत किया। उन्होंने वेटनरी अस्पताल, बड़ोह में खंड विकास कार्यालय देने के लिए मुख्यातिथि का आभार आभार जताया।
  इस अवसर पर विधायक नगरोटा बगवां अरुण मेहरा, निदेशक कृषि नरेन्द्र धिमान, निदेशक पशु पालन विभाग प्रदीप शर्मा, स्थानीय प्रधान विपिन कुमार, परियोजना अधिकारी डीआरडीए सोनू गोयल, बीडीओ मुनीष कुमार, संजीव राणा सहित गणमान्य लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: