SAMNA NEWS

मुख्यमंत्री ने बिलासपुर जिला के घुमारवीं विधानसभा क्षेत्र में लगभग 117 करोड़ रुपये लागत की 21 विकासात्मक परियोजनाओं के शिलान्यास एवं लोकार्पण किए…

शिमला 27 जून, 2022 भराड़ी उप तहसील को तहसील में स्तरोन्नत करने तथा भगेड़ में लोक निर्माण विभाग का अनुभाग खोलने की घोषणा. कपाहड़ा एवं भगेड़ में जल शक्ति विभाग के नये अनुभाग खोलने की भी घोषणा मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज बिलासपुर जिला के घुमारवीं विधानसभा क्षेत्र में लगभग 117 करोड़ रुपये लागत की 21 विकासात्मक परियोजनाओं के शिलान्यास एवं लोकार्पण के उपरांत घंडालवी के समीप लदरौर में जनसभा को सम्बोधित करते हुए भराड़ी उप तहसील को तहसील में स्तरोन्नत करने तथा लोक निर्माण विभाग के कपाहड़ा उपमण्डल के अन्तर्गत भगेड़ में लोक निर्माण विभाग का अनुभाग खोलने की घोषणा की।
मुख्यमंत्री ने क्षेत्र में बागवानी को बढ़ावा देने के दृष्टिगत बागवानी अनुसंधान एवं विस्तार केन्द्र, कपाहड़ा एवं भगेड़ में जल शक्ति विभाग के नये अनुभाग खोलने, राजकीय उच्च पाठशाला भगेड़, पंतेहड़ा और कल्लर को वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं में स्तरोन्नत करने, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला दधोल में मेडिकल कक्षाएं शुरू करने, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला पनोह, कठलग, छत और कोट में वाणिज्य कक्षाएं तथा राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला गलियां और अमरपुर में विज्ञान की कक्षाएं शुरू करने की भी घोषणा की। उन्होंने राजकीय प्राथमिक पाठशाला संडयार को राजकीय माध्यमिक पाठशाला तथा राजकीय माध्यमिक पाठशाला हरितलंग्यार को राजकीय उच्च पाठशाला में स्तरोन्नत करने की भी घोषणा की।
जय राम ठाकुर ने दधोल में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र खोलने और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र हटवाड़ को 10 बिस्तर क्षमता के स्वास्थ्य संस्थान में स्तरोन्नत करने की घोषणा की। उन्होंने पनयाला (कोठी) तथा पपलाह में पशु औषधालय खोलने घोषणा की। उन्होंने खण्ड प्रारम्भिक शिक्षा अधिकारी-एक को घुमारवीं से बदल कर भराड़ी में स्थापित करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भराड़ी और नागरिक अस्पताल घुमारवीं में लैब टेक्निशियन के दो-दो पद स्वीकृत किए जाएंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार ने आज अपने कार्यकाल के साढ़े चार वर्ष पूर्ण कर लिए हैं और यह कार्यकाल अंतिम पंक्ति में खड़े लोगों के उत्थान और गरीब एवं जरूरतमंदों के कल्याण को समर्पित रहा है। उन्होंने कहा कि महामारी के बावजूद सरकार ने विकास की गति को बनाए रखा है। उन्होंने इन विकास कार्यों का श्रेय राज्य के लोगों के निरन्तर सहयोग एवं समर्थन को दिया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का राज्य और यहां के लोगों के प्रति विशेष लगाव रहा है। प्रधानमंत्री ने केन्द्र में राजग सरकार के आठ साल का कार्यकाल पूर्ण होने पर देश के लोगों को सम्बोधित करने के लिए शिमला के ऐतिहासिक रिज को और सभी राज्यों के मुख्य सचिवों के अधिवेशन के लिए धर्मशाला को चुना, जो कि राज्य के लोगों के प्रति उनके स्नेह एवं उदारता को दर्शाता है।
जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के लिए केन्द्र से 10 हजार करोड़ रुपये की परियोजनाएं स्वीकृत करवाने में सफल रही है। इसके अतिरिक्त राज्य के लिए एक अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), चार मेडिकल कॉलेज और एक मेडिकल डिवाइस पार्क केन्द्र द्वारा प्रदान किए गए हैं। उन्होंने कहा कि इसके बावजूद विपक्ष के नेता राज्य को केन्द्र सरकार द्वारा कुछ भी न देने के आधारहीन आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि विपक्षी नेताओं द्वारा जिस तरह से अभद्र भाषा का प्रयोग किया जा रहा है, वह उनकी बौखलाहट को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि अपने वर्तमान कार्यकाल में राज्य सरकार ने गरीबों एवं जरूरतमंद वर्गों के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं शुरू की हैं और अब कांग्रेस के नेता सत्ता में आने पर इन योजनाओं को बंद करने की बातें कर रहे हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हाल ही में चार राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में लोगों ने भाजपा की सरकारों पर पुनः अपना विश्वास जताया है और कांग्रेस को पूरी तरह से नकार दिया है। उन्होंने कहा कि राज्य के लोग भी अब मिशन रिपीट सुनिश्चित कर इतिहास रचेंगे ताकि विकास की गति को निर्बाध जारी रखा जा सके।
मुख्यमंत्री ने इससे पूर्व 95 लाख रुपये की लागत से निर्मित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, 3.41 करोड़ रुपये की लागत से बाड़ा दा घाट से बम वाया सलौन सड़क में द्रग खड्ड पर निर्मित पुल, ग्राम पंचायत मुण्डखर तथा तलाओ पलासला की शेष बस्तियों के लिए 2.29 करोड़ रुपये की उठाऊ पेयजल योजना, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला (कन्या) घुमारवीं में 1.09 करोड़ रुपये से निर्मित अतिरिक्त कमरों, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला हटवाड़ में 90 लाख रुपये से निर्मित विज्ञान प्रयोगशाला भवन, नागरिक अस्पताल घुमारवीं के समीप राष्ट्रीय उच्च मार्ग 103 पर 66 लाख रुपये की लागत से निर्मित ओवरहेड पैदल पुल, मरहाणा (भदरेट), माकड़ी तथा सलाओ उपरली गांव के लिए 92 लाख रुपये लागत की उठाऊ पेयजल योजना, ग्राम पंचायत कोटलू ब्राह्मणा में 5.02 करोड़ रुपये से उठाऊ पेयजल योजना छत हिम्मर से हर घर को नल उपलब्ध करवाने, राजकीय डिग्री महाविद्यालय में 1.34 करोड़ रुपये के ई-पुस्तकालय इत्यादि तथा हिमाचल प्रदेश राज्य विद्युत बोर्ड सीमित के घुमारवीं मण्डल के अन्तर्गत 70 लाख रुपये से निर्मित विद्युत उपमण्डल भराड़ी के भवन तथा 14 लाख रुपये की लागत से निर्मित राजकीय माध्यमिक पाठशाला घंडावली के दो कमरों का उद्घाटन किया।
जय राम ठाकुर ने राष्ट्रीय उच्च मार्ग-103 से भागदबन गांव के लिए 1.85 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले सम्पर्क मार्ग, घुमारवीं में 3.89 करोड़ रुपये से निर्मित होने वाले हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड के भवन, उठाऊ पेयजल योजना कोठी, पन्याला और बहाव पेयजल योजना औहर के 12.34 करोड़ रुपये से होने वाले संवर्द्धन कार्य, 8.27 करोड़ रुपये से उठाऊ पेयजल योजना दियारा और लन्झता के संवर्द्धन, उठाऊ सिंचाई योजना औहर, पलथीं, सेपड़ा, बकरोआ, पलेह, पेहडवीं, मझासु व इसके साथ लगते क्षेत्रों के लिए 15.73 करोड़ रुपये से निर्मित होने वाली सिंचाई योजना, सीर खड्ड पर विभिन्न सिंचाई व पेयजल योजनाओं के पुनर्भरण के लिए 3.61 करोड़ रुपये के वर्षा जल संग्रहण के निर्माण कार्य, उठाऊ पेयजल योजना नगर परिषद घुमारवीं के लिए 20.96 करोड़ रुपये के संवर्द्धन, नगर परिषद घुमारवीं में 13.53 करोड़ रुपये की मल निकासी योजना के कार्य तथा करलोटी, कपाहड़ा तथा फटोह के लिए सतलुज नदी से पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए जल जीवन मिशन के अन्तर्गत 19.03 करोड़ रुपये निर्मित होने वाली पेयजल योजना का शिलान्यास किया।
स्थानीय विधायक व खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री राजिंद्र गर्ग ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि वर्तमान राज्य सरकार के कार्यकाल में घुमारवीं क्षेत्र में अभूतपूर्व विकास हुआ है। उन्होंने कहा कि इस आभार रैली का आयोजन मुख्यमंत्री का धन्यवाद व्यक्त करने के लिए किया गया था, क्योंकि मुख्यमंत्री क्षेत्र का विकास सुनिश्चित करने के लिए सदैव ही सवंदेनशील रहे हैं। उन्होंने घंडालवीं में राजकीय स्नातक महाविद्यालय आरम्भ करने के लिए भी मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि यह महाविद्यालय हमीरपुर जिले के साथ लगते भोरंज विधानसभा क्षेत्र की 10 से अधिक पंचायतों के अलावा, क्षेत्र की 25 हजार से अधिक आबादी के लिए वरदान साबित होगा। उन्होंने मुख्यमंत्री के समक्ष क्षेत्र की विकासात्मक मांगों का ब्यौरा भी रखा।
घुमारवीं भाजपा मंडलाध्यक्ष सुरेश ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री और अन्य गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत किया।
इस अवसर पर भोरंज की विधायक एवं उप-मुख्य सचेतक कमलेश कुमारी, सदर के विधायक सुभाष ठाकुर, झंडुता के विधायक जे.आर. कटवाल, मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार त्रिलोक जम्वाल, हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. सुरेश सोनी, भाजपा जिलाध्यक्ष स्वतंत्र सांख्यान, बिलासपुर जिला भाजपा के सह-प्रभारी डॉ. सीमा ठाकुर, स्वामी राजिन्द्र गिरी सहित अन्य गाणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: