SAMNA NEWS

उपायुक्त शिमला:आदित्य नेगी ने आज शरद ऋतु एवं बर्फबारी से निपटने के लिए की जाने वाली तैयारियों की समीक्षा बैठक की…

बर्फबारी से निपटने के लिए सभी सम्बद्ध विभाग दिसम्बर माह के प्रथम सप्ताह में सभी तैयारियां पूर्ण कर जिला प्रशासन को सूचित करें। उपायुक्त शिमला आदित्य नेगी ने आज शरद ऋतु एवं बर्फबारी से निपटने के लिए की जाने वाली तैयारियों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए यह निर्देश दिए।
उन्होंने कहा कि सभी विभाग अपने अधीन इस संदर्भ में नोडल अधिकारियों की तैनाती कर 30 नवम्बर, 2021 तक जिला प्रशासन को सूचित करें ताकि प्रभावी क्रियान्वयन के लिए कॉमनीकेशन प्लान बनाया जा सके।  
उन्होंने सर्दियों में आगजनी की घटनाओं को रोकने के लिए विभागों को पंचायत स्तर तक विशेष प्रचार एवं जागरूकता अभियान चलाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इस अभियान के तहत लोगों को जागरूक किया जाए कि सर्दियों में आग से बचाव के लिए उन्हें क्या करना व नहीं करना है। उन्होंने कहा कि इस संदर्भ में ग्रामीण स्तर तक जानकारी उपलब्ध करवाना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक गांव में फायर हाइड्रेंट की उपलब्धता के लिए प्रयास किए जाएंगे ताकि अग्निशमन वाहनों को आग पर काबू पाने के लिए सुविधा हो सके।
उन्होंने कहा कि बर्फबारी के दौरान शिमला को 5 सैक्टरों में बांटा गया है, जिसमें सैक्टर-1 के तहत संजौली, ढली, कुफरी, नालदेहरा, मशोबरा, बल्देयां, सैक्टर-2 के तहत ढली-संजौली बाईपास, संजौली चैक-आईजीएमसी-रिगल, लक्कड़ बाजार से विक्ट्री टनल तक, कैथू, भराड़ी, चैड़ा मैदान, एजी आॅफिस, अनाडेल, उपायुक्त कार्यालय, सैक्टर-3 के तहत बाईपास एनएच सड़क वाया आईएसबीटी से शोघी तक, चक्कर, बालुगंज, हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय, टूटु, जतोग, नाभा, फागली, खलीणी, बीसीएस, विकास नगर, सैक्टर-4 के तहत विक्ट्री टनल से कार्ट रोड छोटा शिमला चैक तक, आर्टरेक, यूएस क्लब, माॅल, रिज, जोधा निवास, हाॅली लोज, जाखू, रिज माउंट, राम चन्द्रा चैक तथा सैक्टर-5 के तहत हाई कोर्ट, केएनएच, ओकओवर, राज भवन, बैनमोर, वन रोड, हिमाचल प्रदेश सचिवालय छोटा शिमला, ब्राॅक-ह्रस्ट, मैहली, कसुम्पटी तथा पंथाघाटी शामिल है।
उन्होंने लोक निर्माण विभाग को बर्फबारी के दौरान सड़कों को बहाल करने के लिए मशीन व श्रम की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। विशेष रूप से ठियोग, चैपाल, रोहडू, कुमारसैन, रामपुर, शिमला शहरी व शिमला ग्रामीण की बहाली प्राथमिकता के आधार पर की जानी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि इन सड़कों पर बंद होने वाले स्थानों को चिन्हित कर वहां आवश्यक तैनाती सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि स्थानीय प्रशासन सड़कों पर से बर्फ को उठा कर किसी खुले स्थान पर एकत्रित करें ताकि किसी प्रकार का जाम की समस्या से बचा जा सके। सड़कों पर वाहनों की सही पार्किंग सुनिश्चित करने के लिए भी स्थानीय प्रशासन आवश्यक कार्य योजना तैयार करें।
उन्होंने कहा कि विद्युत विभाग बर्फबारी के दौरान जिला में विद्युत आपूर्ति सुचारू रखने के लिए सभी तैयारियां पूर्ण करें। विभिन्न विद्युत लाईनों के आसपास गिरने वाले पेड़ों को चिन्हित कर बर्फबारी से पूर्व हटाने के प्रति प्रक्रिया आरम्भ की जानी आवश्यक है। इसके अतिरिक्त अन्य ट्रांसफार्मर की उपलब्धता एवं उपकरणों के रखरखाव को भी समय रहते सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि इस संदर्भ में आवश्यक सर्वेक्षण करवाना भी आवश्यक है, जिसे जल्द पूर्ण किया जाए।
उन्होंने जल शक्ति विभाग को निर्देश देते हुए कहा कि विभाग सुनिश्चित करें कि उनकी पानी की पाइपें भूमिगत हो ताकि बर्फबारी के दौरान वो न जमंे तथा पानी की आपूर्ति किसी भी रूप में बाधित न हो।
बर्फबारी के दौरान आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने के उद्देश्य से उन्होंने बताया कि बर्फ बाहुल्य व दूरदराज क्षेत्रों में 95 प्रतिशत खाद्य सामग्री आपूर्ति की जा चुकी है जबकि मिट्टी तेल की आपूर्ति 30 नवम्बर, 2021 तक कर दी जाएगी।  
उन्होंने कहा कि नगर निगम शिमला शहर में प्रमुख मार्गों को खोलने के लिए सभी तैयारियों को सुनिश्चित करें, जिसके तहत स्वास्थ्य संस्थाओं आवागमन के लिए प्रयोग होने वाले नियमित मार्ग तथा अन्य आपातकालीन मार्गों को प्राथमिकता के आधार पर खोलें। पैदल चलने वाले मार्गों पर फिसलन को रोकने के लिए भी समुचित प्रबंध किए जाने आवश्यक है।
उन्होंने होमगार्ड, अग्निशमन व सम्बद्ध विभागों को विभिन्न क्षेत्रों मंे त्वरित प्रतिक्रिया दलों की तैनाती करना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए ताकि आवश्यकता पड़ने पर लोगों को दल की सेवाएं प्रदान की जा सके।
उन्होंने बर्फबारी के दौरान पर्यटकों एवं आवश्यकतानुरूप बचाव कार्यों के लिए विभिन्न तैयारियों के लिए पुलिस दल की तैनाती तथा चैनयुक्त गाड़ियों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए ताकि आपातकाल समय में त्वरित कार्यवाही अमल में लाई जा सके।
उन्होंने जिला में सभी स्वास्थ्य संस्थानों में जनरेटर और डीजल उपलब्धता के संबंध में जानकारी प्राप्त कर प्रशासन को सूचित करने के निर्देश दिए। इसके अतिरिक्त विभिन्न अस्पतालों में एम्बुलेंसों को चैनों से लेस कर तैनात किए जाने के प्रति भी कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।
उन्होंने कहा कि बीएसएनएल अन्य नेटवर्क कम्पनियों के साथ समन्वय स्थापित कर बेहतर कनेक्टिविटी के लिए अपनी तैयारियां सुनिश्चित करें ताकि बर्फबारी के दौरान बेहतर सुविधा उपलब्ध हो सके।
इस अवसर पर आयुक्त नगर निगम आशीष कोहली, अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी कानून एवं व्यवस्था राहुल चौहान, अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी प्रोटोकॉल सचिन कंवल, सहायक आयुक्त डाॅ. पूनम, समस्त उपमण्डलाधिकारी, कमांडेंट होमगार्ड आरपी नेपटा, नविता शर्मा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहरी विजय शर्मा, डिप्टी कमांडेंट आईटीबीपी सतेन्द्र कुमार, आरटीओ शिमला डीआर धीमान, विद्युत, जल शक्ति, वन, लोक निर्माण, बीएसएनएल, जिला आपदा प्रबंधन, मिल्क फेड, अग्निशमन, हिमाचल पथ परिवहन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।  

Leave a Reply

%d bloggers like this: