SAMNA NEWS

बालिका सशक्तिकरण के लिए सामूहिक प्रयास नितांत आवश्यक-संजय कुमार

सहायक आयुक्त संजय कुमार ने कहा कि समाज में बालिकाओं की सुरक्षा, उनके सम्मानजनक जीवन यापन एवं सशक्तिकरण के लिए सामूहिक प्रयासों की नितांत आवश्यकता है तभी वे पुरूषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर बेहतर समाज निर्माण में सहायक हो सकती हैं। संजय कुमार आज यहां महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित ज़िला स्तरीय राष्ट्रीय बालिका दिवस कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे थे। संजय कुमार ने कहा कि बालिकाओं को उनके अधिकारों के प्रति सजग करने के उद्देश्य से राष्ट्रीय बालिका दिवस का आयोजन किया जाता है। उन्होंने कहा कि आज बेटियां जीवन के हर क्षेत्र में बेहतरीन कार्य कर रही हैं। खेलकूद, राजनीति, सेना सहित विभिन्न क्षेत्रों में बालिकाओं ने उत्कृष्ट प्रदर्शन से अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार ने सामाजिक गतिविधियों एवं विकास में महिलाओं की सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित करने तथा उन्हें सशक्त व सक्षम बनाने के लिए प्रभावशाली योजनाएं आरम्भ की हैं। इस दिशा में सखी वन स्टाॅप सेंटर, बेटी है अनमोल योजना तथा शगुन योजना लक्षित वर्गों का सशक्त सम्बल बन कर उभरी है।


सहायक आयुक्त ने कहा कि महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करने तथा उन्हें आपातकालीन स्थिति में तुरंत सहायता के लिए गुड़िया हेल्पलाइन-1515 आरम्भ की गई है। महिलाओं की सुरक्षा के लिए शक्ति बटन ऐप शुरू की गई है जिसके माध्यम से महिलाओं को संकट की घड़ी में लाल बटन दबाकर तुरंत पुलिस की सहायता प्राप्त की जा सकती है। सहायक आयुक्त ने इस अवसर पर जामुन का पौधा रोपित किया तथा सभी को राष्ट्रीय बालिका दिवस की बधाई दी। ज़िला कार्यक्रम अधिकारी आईसीडीएस राजेंद्र नेगी ने मुख्यातिथि का स्वागत करते हुए किशोरियों तथा महिलाओं के उत्थान के लिए विभाग द्वारा चलाई जा रही योजनाओं के बारे में तथा कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी प्रदान की। इससे पहले डाॅ. सविता अग्रवाल ने पीसी एंड पीएनडीटी अधिनियम 1994 के बारे में तथा  डाॅ. अनीता शर्मा द्वारा महिलाओं के मासिक धर्म के दौरान संक्रमण से बचाव के लिए साफ सफाई के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की।


इस अवसर पर बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के तहत हस्ताक्षर पट्ट पर हस्ताक्षर किए गए तथा बेटियों की सुरक्षा की शपथ भी दिलाई गई। कार्यक्रम में नवजात शिशुओं को अन्नप्राशन, उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं तथा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले प्रतिभागियों को सम्मानित भी किया गया। कार्यक्रम के दौरान पोषण अभियान, मातृत्व सहारा योजना, मदर टेरेसा योजना, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के बारे में भी जानकारी प्रदान की गई। कार्यक्रम के दौरान इनरव्हील क्लब सोलन द्वारा शैलटर होम में रहने वाली किशोरियों के लिए उपहार स्वरूप प्रोटीन पाउडर तथा सेनेटरी पेड वितरित किए। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. राजन उप्पल, जिला आयुर्वेद अधिकारी डाॅ. प्रवीण शर्मा, जिला कल्याण अधिकारी गिरधारी लाल शर्मा, ज़िला बाल संरक्षण अधिकारी सुरेन्द्र टेगटा, अध्यक्ष इनर व्हील क्लब सविता शर्मा, ज़िला के समेकित बाल विकास परियोजना अधिकारी आंगनवाड़ी पर्यवेक्षिकाएं, कार्यकर्ता एवं सहायिकाएं उपस्थित थी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: