SAMNA NEWS

जिला स्तरीय त्रैमासिक सड़क सुरक्षा समिति की बैठक आयोजित

उपायुक्त सोलन कृतिका कुलहरी ने कहा कि सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए सामूहिक प्रयासों की आवश्यकता है ताकि बहुमूल्य मानवीय जीवन को बचाया जा सके। कृतिका कुलहरी आज यहां जिला स्तरीय त्रैमासिक सड़क सुरक्षा समिति की बैठक की अध्यक्षता कर रहीं थी।
कृतिका कुलहरी ने कहा कि सड़क दुर्घटनाओं को कम करने के लिए आवश्यक है कि सभी नागरिक यातायात नियमों का पालन करते हुए वाहन चलाएं। परिवहन तथा पुलिस विभाग आपसी समन्वय से कार्य करें और सभी हितधारक यातायात सुरक्षा मानकों का पालन करवाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि वाहन दुर्घटना के समय अधिकारियों के साथ-साथ आमजन का संवेदनशील होना आवश्यक है।
उपायुक्त ने कहा कि सभी यातायात नियमों का पालन करते हुए गति सीमा की अनुपालना सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने में सहायक बनती है। इस दिशा में प्रशासन एवं पुलिस को आमजन का सहयोग मिलना नितांत आवश्यक है।
उन्होंने क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी सोलन को निर्देश दिए कि जि़ला में विभिन्न विद्यालयों की बसों का औचक निरीक्षण किया जाए। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित बनाया जाए कि स्कूल की बसों में गति सीमा निर्धारक, सीसीटीवी कैमरा, आईएसआई मानकों पर आधारित अग्निशामक स्थापित होने चाहिएं। उन्होंने कहा कि परिवहन विभाग समय-समय पर चालक प्रशिक्षण केन्द्रों का निरीक्षण करें और चालक प्रशिक्षुओं को सड़क सुरक्षा उपायों के बारे में अवगत करवाएं।
उन्होंने लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिए कि जि़ला में चिन्हित ब्लैक स्पॉट को ठीक करें और सड़कों की मुरम्मत एवं रखरखाव के कार्य में कोताही न होने दें। उन्होंने जि़ला के विभिन्न स्थानों पर दुर्घटना सम्भावित स्थलों को चिन्हित कर चेतावनी पट्ट स्थापित करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग पर आवश्यक स्थानों पर साईन बोर्ड, गति सीमा बोर्ड, आपाताकालीन नम्बर दर्शाते सूचना पट्ट भी स्थापित किए जाएं।
 उन्होंने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि शिक्षण संस्थानों में यातायात सुरक्षा के सम्बन्ध में गतिविधियां आयोजित की जाएं।
 उपायुक्त ने कहा कि दुर्घटना की स्थिति में घायल व्यक्ति की देखभाल सुनिश्चित बनाएं और आवश्यकता पड़ने पर घायल को बिना किसी संकोच के प्राथमिक उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाएं। उन्होंने कहा कि संवेदनशीलता मानवीय जीवन का आवश्यक पहलू है। सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्ति को यदि समय पर सहायता मिल जाए तो उसका जीवन बचाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि इस दिशा में संवेदनशील नागरिक समाज के सभी वर्गों को राह दिखा सकते हैं। इस दिशा में लोगों को जागरूक किया जाना आवश्यक है।
बैठक में ज़मीन उपलब्ध होने पर ट्रैफिक पार्क बनाने, सभी बसों में डिजिटल ब्लिंकिंग रूट लगवाने तथा सड़क दुर्घटना होने पर सहायता करने वाले व्यक्ति को पुरस्कृत करने के सम्बन्ध में विस्तृत चर्चा की गई।
बैठक में क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी सोलन नरेंद्र चौहान ने अवगत करवाया कि जि़ला में ज्यादातर चिन्हित ब्लैक स्पॉट को ठीक करवा दिया गया है तथा शेष बचे ब्लैक स्पॉट को भी शीघ्र ठीक करवा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि गत 3 माह में 65 बसों का औचक निरीक्षण कर 24 बसों का चालान किया गया तथा जि़ला के 18 प्रशिक्षण केंद्रों का भी समय-समय पर निरीक्षण किया गया।
इस अवसर पर उपमंडल अधिकारी कसौली धनवीर सिंह ठाकुर, उप पुलिस अधीक्षक सोलन रमेश शर्मा, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी नालागढ़ राम प्रकाश सहित विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: