SAMNA NEWS

जिला सलाहकार समिति तथा यूको आरसेटी की त्रैमासिक बैठक आयोजित

अतिरिक्त उपायुक्त सोलन ज़फ़र इकबाल ने कहा कि लक्षित वर्गों की आर्थिकी को मज़बूती प्रदान करने और पात्र व्यक्तियों तक समय पर ऋण पहंुचाने में वित्तीय संस्थानों की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। ज़फ़र इकबाल आज यहां जिला के अग्रणी बैंक यूको बैंक द्वारा निर्धारित जिला सलाहकार समीति की 167वीं त्रैमासिक बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।
ज़फ़र इकबाल ने कहा कि व्यक्तिगत एवं सामाजिक स्तर पर आर्थिकी को सुदृढ़ करने में बैंक सराहनीय भूमिका निभा रहे हैं। उन्होंने बैंक प्रतिनिधियों से आग्रह किया कि ज़िला के आमजन तक वित्तीय योजनाएं पंहुचाने के लिए सशक्त एवं प्रभावी प्रचार सुनिश्चित बनाएं। उन्होंने निर्देश दिए कि जिला के गांव-गांव में वित्तीय योजनाओं के प्रचार के लिए जागरूकता शिविर आयोजित किए जाएं। उन्होंने कहा कि जन-धन खाते में आधार व मोबाइल सीडिंग के निर्धारित समय सीमा के भीतर करना सुनिश्चित करें।
उन्होंने कृषि तथा पशुपालन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि फसल बीमा तथा पशु बीमा करवाने के लिए किसानों को प्रेरित करें ताकि लाभार्थियों को समय पर इस योजना का लाभ मिल सके।
ज़फ़र इकबाल ने जिला में कार्यरत विभिन्न बैंकों को निर्देश दिए कि लम्बित पड़े ऋण मामलों को शीघ्र निपटाएं। उन्होंने कहा कि सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग स्थापित करने के लिए प्राप्त आवेदनों का पात्रता अनुसार ऋण शीघ्र स्वीकृत किया जाना चाहिए ताकि युवा उद्यमी समय पर लाभ प्राप्त कर अपना व्यवसाय आरम्भ कर सकें। उन्होंने विभिन्न विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे ऋण सम्बन्धी मामलों के अविलम्ब निपटारे के लिए बैंकों के साथ समन्वय स्थापित करें।
बैठक में जानकारी दी गई कि ज़िला में 31 मार्च 2022 तक प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत 01 लाख 25 हजार 19 खाते खोले गए हैं। इन खातों में 11 हजार 665 लाख रुपए जमा हुए हैं। इस अवधि तक प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना से 02 लाख 03 हजार 158 लाभार्थियों को जोड़ा गया है। प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना से 74 हजार 179 तथा अटल पैंशन योजना से 43 हजार 545 लाभार्थी जुड़ चुके हैं।
प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत सोलन जिला में मार्च, 2022 तक शिशु श्रेणी के तहत 10 हजार 531 लाभार्थियों को लगभग 04 हजार 152 लाख रुपए, किशोर श्रेणी में 13 हजार 798 व्यक्तियों को लगभग 31 हजार 628 लाख रुपये तथा तरूण श्रेणी के तहत 05 हजार 541 लाभार्थियों को लगभग 38 हजार 907 लाख रुपये स्वीकृत किए गए हैं।
अतिरिक्त उपायुक्त ने कहा कि यूको आरसेटी को कृषि व्यवसाय से सम्बन्धित प्रशिक्षण कार्यक्रम आरम्भ करने की सम्भावनाएं तलाशनी चाहिए। यूको ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान (यूको आरसेटी) को ऐसे प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करने चाहिए, जो युवाओं को रोजगार एवं स्वरोजगार के बेहतर अवसर प्रदान कर सकें। यूको आरसेटी को विभिन्न विभागों से बेहतर समन्वय स्थापित कर पंचायत स्तर पर प्रशिक्षण शिविर तथा केसीसी मेलों का आयोजन समय-समय पर करते रहना चाहिए ताकि ज्यादा से ज्यादा ग्रामीण लोग लाभान्वित हो सके।
भारतीय रिजर्व बैंक के सहायक महाप्रबंधक भरत राज आनंद ने बैंकों को समय-समय पर जारी होने वाले दिशा-निर्देशों की जानकारी दी तथा इनकी अनुपालना का आग्रह करते हुए सभी बैंक अधिकारियों से खंड स्तरीय कार्यशाला में उपस्थित रहने के निर्देश दिए।
यूको आरसेटी के निदेशक ने कहा कि मार्च, 2022 तक 12 प्रशिक्षण कार्यक्रमों में 276 उम्मीदवारों को प्रशिक्षण प्रदान किया।  
इस अवसर पर जिला ग्रामीण विकास अभिकरण के परियोजना अधिकारी राजकुमार, जिला अग्रणी बैंक यूको बैंक के प्रबंधक आर.के. बाली, निदेशक यूको आरसेटी रोहित कश्यप, जिला कृषि अधिकारी डॉ. सीमा कंसल, निदेशक आरसेटी रोहित कश्यप सहित विभिन्न बैंकों के प्रबंधक तथा प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: