SAMNA NEWS

कैच द रेन के संदर्भ में बैठक आयोजित…..

ज़िला सोलन जल शक्ति अभियान के नोडल अधिकारी एवं केन्द्रीय भारी उद्योग मंत्रालय के निदेशक विकास डोगरा ने कहा कि जल ही जीवन है। इसके संवर्धन और संचयन के लिए सभी को भरसक प्रयास करने होंगे। उन्होंने कहा कि वर्षा जल संचयन ढांचों का निर्माण आज के समय की मांग है। इन ढांचों में एकत्र किए गए जल का विभिन्न दैनिक गतिविधियों में प्रयोग करके जल संरक्षण किया जा सकता है। यह बात ज़िला सोलन जल शक्ति अभियान के नोडल अधिकारी एवं केन्द्रीय भारी उद्योग मंत्रालय के निदेशक विकास डोगरा ने गत दिवस ‘कैच दी रेन’ के संदर्भ में आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही।

 
 विकास डोगरा ने सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को ज़िला में सभी पारंपरिक जल स्रोतों, चैक डैम, तालाब, बोरवैल और अन्य जल स्रोतों के जीर्णाेद्धार तथा इन्हें पुनर्जीवित करने के निर्देश दिए, ताकि भविष्य के लिए जल संरक्षण किया जा सके।
उन्होंने संबंधित विभागों को निर्देश देते हुए कहा कि जल संरक्षण के लिए किए जा रहे कार्यों को एक मिशन मोड में लें व जल संरक्षण के लिए लक्ष्य निर्धारित करें और उस पर योजनाबद्ध कार्य करें। उन्होंने कहा कि जल शक्ति अभियान को सफल बनाने के लिए जल शक्ति विभाग के अलावा ग्रामीण विकास, पंचायती राज, वन, कृषि और अन्य विभागों की भूमिका भी बहुत ही महत्वपूर्ण है। इसलिए ये विभाग अपने-अपने कार्य क्षेत्रों में विभिन्न जल संरक्षण कार्यों की विस्तृत योजना तैयार कर उसके अनुसार विभिन्न गतिविधियों को अंजाम दें।

इस अवसर पर उपायुक्त सोलन कृतिका कुलहरी ने अवगत करवाया कि जल शक्ति अभियान के तहत ज़िला सोलन में 2700 बावड़ियों की जियो टेगिंग कर दी गई है। 110 अमृत सरोवर स्थलों का चयन कर 88 अमृत सरोवर का निर्माण कार्य आरम्भ किया जा चुके है। स्वयं सहायता समूह, महिला मण्डल व युवक मण्डलों द्वारा जागरूकता अभियान चलाकर बावड़ियों की सफाई का अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में पारंपरिक जल स्रोतों, बावडिय़ों और तालाबों का जीर्णाेद्धार मनरेगा के माध्यम से करवाया जा रहा है। इसके अतिरिक्त जलागम विकास घटक-प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना 2.0 के अंतर्गत ज़िला सोलन के विकास खण्ड नालागढ़ व धर्मपुर का चयन किया गया है। इन विकास खण्डों में 27 जून से 30 जून, 2022 तक पौधारोपण, कला प्रदर्शन व भू संरक्षण पर जागरूकता अभियान भी चलाया गया।


इस अवसर पर विकास डोगरा ने जल संरक्षण पर आधारित एक पोस्टर का विमोचन व जल संरक्षण लोगो का शुभारम्भ भी किया। इससे पूर्व कृतिका कुलहरी ने ज़िला सोलन जल शक्ति अभियान के नोडल अधिकारी एवं केन्द्रीय भारी उद्योग मंत्रालय के निदेशक विकास डोगरा का स्वागत किया। अतिरिक्त उपायुक्त सोलन ज़फ़र इकबाल, वैज्ञानिक राष्ट्रीय जल विज्ञान संस्थान रूड़की डॉ. दिगम्बर सिंह, ग्रामीण विकास अभिकरण सोलन के परियोजना अधिकारी राजकुमार, उपमण्डलाधिकारी सोलन विवेक शर्मा, उपमण्डलाधिकारी कण्डाघाट विकास सूद सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी इस अवसर पर उपस्थित थे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: