SAMNA NEWS

समाज सेवा करने वाले वास्तव में सम्मान के पात्र है: डॉ. सैजल

स्वास्थ्य, परिवार कल्याण एवं आयुष मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने आज ज़िला सोलन के नौणी में हिमाचल के एक प्रतिष्ठित दैनिक समाचार पत्र तथा डॉ. यशवंत सिंह परमार औद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय नौणी के संयुक्त तत्वाधान में प्रतिभा सम्मान समारोह की अध्यक्षता की।
स्वास्थ्य मंत्री ने प्रतिभा सम्मान समारोह में विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले व्यक्तियों को बधाई देते हुए कहा कि समाज सेवा करने वाले वास्तव में सम्मान के पात्र होते है। उन्होंने कहा कि इतिहास के पन्नों में वहीं लोग दर्ज होते है जिन्होंने भावी पीढ़ी के लिए सराहनीय कार्य किए हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे आयोजनों से समाज में पुनित कार्य करने वाले व्यक्तियों को बढ़ावा मिलता है तथा अन्य व्यक्तियों को बेहतर कार्य करने के लिए अनुप्रेरित करता है। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति समाज के हित के लिए कार्य करते है उनकी एक अलग पहचान बनती है।
डॉ. राजीव सैजल ने कहा कि दैनिक समाचार पत्र आमजन तक सूचना उपलब्ध करवाने का एक प्रभावी माध्यम है। उन्होंने कहा कि सामाजिक सरोकारों का समाचार पत्र से जुड़ना बहुत सराहनीय है। उन्होंने समाचार पत्रों द्वारा हिमाचल के लेखकों को बढ़ावा देने के लिए उठाए गए कदमों की भी सराहना की।
स्वास्थ्य मंत्री ने परम्परागत कृषि को बढ़ावा देने वाले व्यक्तियों की सराहना करते हुए कहा कि स्वस्थ जीवन व्यतीत करने के लिए रसायन मुक्त फल व सब्जियों का सेवन अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने किसानों से प्राकृतिक खेती को अपनाने का आग्रह किया।
इस अवसर पर डॉ. राजीव सैजल ने समाज के विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ठ कार्य करने पर बहादुर सिंह वर्मा, रविन्द्र शर्मा, कुलभूषण गुप्ता, खुरशीद, पदम पुंडिर, उदय चौहान, बिशम सिंह, गौरी दत्त, विजय लम्बा, गीताजंलि कश्यप, डॉ. देवेन्द्र सिंह, डॉ. एस.एल. वर्मा, गवेश अग्रवाल, साहिल कुमार, आमिर साहिल, गुरूद्वारा सिंह सभा सपरुन, एसिसटेनट गर्वनर रोट्ररी, जेड.सी.सी इंटरव्हील क्लब सोलन, शंकर वश्ष्ठि, जियालाल, इत्यादि को सम्मानित किया।  
ब्यूरो चीफ मुकेश शर्मा ने मुख्यातिथि तथा अन्य गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत किया तथा उनके दैनिक समाचार पत्र द्वारा चलाई जा रही गतिविधियों का ब्यौरा भी किया।
विस्तार शिक्षा के निदेशक डॉ. देवेन्द्र गुप्ता ने कहा कि भारत कृषि क्षेत्र में दूसरे स्थान पर है तथा हिमाचल के किसान राज्य की आर्थिकी में अहम भूमिका निभा रहे है। राज्य के किसानों ने कोरोना काल में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई तथा कृषि उत्पादनों की सुचारू आपूर्ति सुनिश्चित की। उन्होंने कहा कि राज्य की लगभग 60 लाख आबादी आजीविका के लिए कृषि पर निर्भर है। उन्होंने उत्पादों की गुणवत्ता को बढ़ाने पर विशेष बल दिया। उन्होंने कहा कि बाजरा के पोषण तत्व की अहमियत को समझते हुए संयुक्त राष्ट्र द्वारा आगामी वर्ष को इंटरनेशनल इयर ऑफ मिलिट के रूप में मनाया जा रहा है। उन्होंने एनेमिया के बढ़ते मामलों को देखते हुए लोगों से पोष्टिक आहार लेने का आग्रह किया।
विस्तार शिक्षा के संयुक्त निदेशक प्रो. अनिल सूद ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया।
इस अवसर पर कृषि उपज विपणन समिति सोलन के अध्यक्ष संजीव कश्यप, ग्राम पंचायत नौणी के प्रधान मदन हिमाचली, पूर्व प्रधान बलदेव ठाकुर, बडू साहिब विश्वविद्यालय के उप कुलपति डॉ. राजेन्द्र सिंह, कृषि उपज विपणन समिति के सचिव रविन्द्र शर्मा सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: