SAMNA NEWS

मेले मनोरंजन का साधन होने के साथ-साथ हमारी समृद्ध संस्कृति के परिचायक

धर्मशाला 22 जून  : मेले मनोरंजन का साधन होने के साथ-साथ हमारी समृद्ध संस्कृति के परिचायक भी हैं । मेलों के आयोजन से लोगों में प्यार ,सद्भावना, पारस्परिक सहयोग की भावना उत्पन्न होती है । यह विचार सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री सरवीण चौधरी ने आज शाहपुर विधानसभा के अंतर्गत द्रमण छिंज मेले के समापन अवसर पर उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए व्यक्त किए । उन्होंने कहा कि प्रत्येक परम्परा के साथ हमारा समृद्ध इतिहास जुड़ा है। मेलों में जहाँ पर मनोरंजन होता है वहीं पर आपसी भाईचारा  भी बढ़ता है । मेले हमारे सामाजिक जीवन का महत्त्वपूर्ण अंग होते हैं । लोगों से मिलने का तथा अपनी संस्कृति को पहचानने का ये मेले सुअवसर प्रदान करते हैं। उन्होंने बताया कि 192.45 लाख से बनाई जा रही  द्रमण-मंझग्रां पेयजल योजना का कार्य प्रगति पर है और इसे शीघ्र पूरा करने के निर्देश जलशक्ति विभाग को दिए गए हैं और इस योजना के पूरा होने पर द्रमण,मंझग्रां ,कुल्हार, नरघुईं, भनियार, अप्पर भनियार,ददरोली तथा प्रीतम नगर गांवों के हज़ारों  लोगों को इसका लाभ मिलेगा ।

उन्होंने कहा कि 15 लाख से बनाये जा रहे  मंझग्रां सम्पर्क मार्ग  तथा 10 लाख से गाँव नरघुईं  के लिए बनाये जा रहे सम्पर्क मार्ग का कार्य प्रगति पर है ।सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने  स्टेज तथा सीढ़ियां बनाने के लिए चार लाख ,रामलीला के उचित संचालन के लिए कमरा बनाने हेतु तीन लाख , द्रमण में शौचालय बनाने के लिए छः लाख रुपये तथा मेला कमेटी को 31 हज़ार  रुपये देने की घोषणा की ।इस अवसर पर सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने छिंज मेले के विजेताओं तथा उपविजेताओं को सम्मानित किया । ग्राम पंचायत प्रधान अरुणा देवी ने मुख्यातिथि को टोपी पहनाकर सम्मानित किया तथा मेला कमेटी के प्रधान चरणजीत सिंह तथा समस्त सदस्यों ने भी मुख्यातिथि को सम्मानित किया तथा  मेले में आने के लिए उनका आभार जताया । इस अवसर पर कनिष्ठ अभियंता लोक निर्माण अंशुल,अशोक, स्थानीय उपप्रधान विनोद, पूजा,विन्दा ठाकुर, हरनाम सिंह, कश्मीर,चैन सिंह, रणजोध, हेमराज, देवराज,मदन राणा ,प्रधान घरोह तिलक,राकेश मनु, जरासन्ध , रूपेश तथा बड़ी संख्यां में लोग उपस्थित रहे ।

Leave a Reply

%d bloggers like this: