SAMNA NEWS

मुख्यमंत्री ने ठियोग विधानसभा क्षेत्र में 82 करोड़ रुपये की 19 विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास किए

निकिता/सामना न्यूज़: शिमला 16 अगस्त, 2022 मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज शिमला जिला के ठियोग विधानसभा क्षेत्र में 82 करोड़ रुपये की 19 विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास किए। ठियोग के पोटैटो ग्राउंड में विशाल जनसभा को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने 150 बिस्तर क्षमता वाले नागरिक अस्पताल, ठियोग को 200 बिस्तर क्षमता में स्तरोन्नत करने, मतियाणा और बड़ागांव में उप-तहसील खोलने, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र मतियाणा को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में स्तरोन्नत करने, नेहरू ग्राउंड (पोटैटो ग्राउंड) के सौन्दर्यीकरण के लिए 25 लाख रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के सम्मान में प्रेमघाट चौक का नामकरण अटल चौक करने तथा रैहली मेला ठियोग को राज्य स्तरीय दर्जा प्रदान करने की भी घोषणा की। उन्होंने क्षेत्र के चार विद्यालयों को स्तरोन्नत करने के साथ एक राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला में विज्ञान कक्षाएं आरम्भ करने की भी घोषणा की। उन्होंने इस मेले के सफल आयोजन के लिए मेला समिति को 2 लाख रुपये देने की घोषणा की।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्वतंत्रता के 75 वर्षों के उपलक्ष्य पर आजादी का अमृत महोत्सव की अवधारणा का प्रतिवादन किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने भी हिमाचल प्रदेश के गठन के 75 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में प्रदेशभर में 75 कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि यह आयोजन हिमाचल प्रदेश के गत 75 वर्षों के गौरवशाली विकास यात्रा को प्रदर्शित करेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश के विकास और प्रगति में राज्य के प्रत्येक मुख्यमंत्री ने बहुमूल्य योगदान दिया है, परन्तु सबसे बड़ा योगदान प्रत्येक मेहनती और ईमानदारी हिमाचली का है।
पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेशवासियों के प्रति अटल जी का विशेष स्नेह और लगाव था और उन्होंने हमेशा ही हिमाचल प्रदेश को अपना दूसरा घर माना। उन्होंने कहा कि अपनी व्यस्तताओं के बावजूद अटल बिहारी वाजपेयी नियमित रूप से प्रदेश का दौरा करते थे। उन्होंने कहा कि देश को स्वतंत्रता दिलाने में ठियोग का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। उन्होंने कहा कि ठियोग एक पर्यटन गंतव्य के रूप में उभर रहा है और इस क्षेत्र में कई होटल व होम-स्टे बन गए हैं।
जय राम ठाकुर ने कहा कि गत 75 वर्षों के दौरान हिमाचल प्रदेश में विकास के सभी क्षेत्रों में अभूतपूर्व प्रगति की है। उन्होंने कहा कि इसका श्रेय प्रदेश के मेहनती और समर्पित लोगों के साथ समय-समय पर प्रदेश का नेतृत्व करने वाले सक्षम नेताओं को जाता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के गठन के समय राज्य में केवल चार जिले थे, वर्तमान में प्रदेश में 12 जिले हैं। उन्होंने कहा कि वर्ष 1948 में प्रदेश की साक्षरता दर 4.8 प्रतिशत थी जबकि वर्तमान में साक्षरता दर 83 प्रतिशत से अधिक है। हिमाचल प्रदेश जैसे पहाड़ी राज्यों में सड़कंें विकास की जीवन रेखा हैं और प्रदेश सरकारों ने राज्य में सड़कों के निर्माण पर विशेष बल दिया है। उन्होंने कहा कि दिवंगत प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने 60,000 करोड़ रुपये से प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना आरम्भ की थी और इस योजना के अन्तर्गत राज्य में लगभग 51 प्रतिशत सड़कंे निर्मित की गई हैं।
मुख्यमंत्री ने विपक्षी नेताओं पर विश्व के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान को मोदी वैक्सीन करार देकर इसका राजनीतिकरण करने और देश की जनता को गुमराह करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि इन्हीं नेताओं ने अपना टीकाकरण करवाया है। उन्होंने कहा कि प्रदेशवासियों ने इस अभियान को अपना पूर्ण सहयोग प्रदान किया, जिसके फलस्वरूप पात्र आबादी का शत-प्रतिशत टीकाकरण सुनिश्चित करने में हिमाचल देश का पहला राज्य बनकर उभरा है। उन्होंने कहा कि 100 करोड़ रुपये लागत की मार्केट यार्ड पराला शीघ्र ही क्षेत्र की जनता को समर्पित की जाएगी, जिससे जिला के बागवान लाभान्वित होंगे।
जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार सेब की पैकिंग के लिए 1 अपै्रल, 2022 से एचपीएमसी या खुले बाजार के माध्यम से खरीदे गए कार्टन और टेª की खरीद पर 6 प्रतिशत उपदान वहन करने का निर्णय लिया है, इसके लिए कार्टन और टेª का जीएसटी भुगतान बिल, बिक्री प्रमाण और आधार के साथ जुड़े बैंक खाते का विवरण प्रदान कर बागवान लाभ प्राप्त कर सकते हैं।
इससे पहले, मुख्यमंत्री ने 15 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित नागरिक अस्पताल ठियोग के प्रथम चरण, ठियोग में 1.26 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित कोषागार कार्यालय भवन, क्यारटू में 2.39 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित संस्कृत महाविद्यालय, 3.36 करोड़ रुपये से नंगल देवी नैहला सड़क, 2.69 करोड़ रुपये की जय पलाना सड़क, 2.45 करोड़ रुपये से सरोग कडैयूग सड़क, 5.58 करोड़ रुपये लागत की भेखलटी धरेच गवेच सिधपुर सड़क, 4.70 करोड़ रुपये से टियाली मन्दिर नैनो सड़क, 3.33 करोड़ रुपये से रूनकली चिखड़ दनेवल सड़क, 1.77 करोड़ रुपये से कोट चुन्जर सड़क के मैटलिंग और टारिंग कार्य, 76 लाख रुपये से सब्जी मण्डी ठियोग के उन्नयन एवं आधुनिकीकरण, जल शक्ति उप-मण्डल ठियोग के 1.13 करोड़ रुपये से निर्मित कार्यालय भवन और ग्राम पंचायत माहोरी में 60 लाख रुपये से निर्मित उठाऊ जलापूर्ति योजना का लोकार्पण किया।
मुख्यमंत्री ने ठियोग में 10 करोड़ रुपये से निर्मित होने वाले नए नागरिक अस्पताल के चरण-2, ग्राम पंचायत सैंज में गिरी खड्ड से हरिजन बस्ती धाली धार शिरगुली तक 1.64 करोड़ रुपये की उठाऊ सिंचाई योजना, 5.70 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली क्यारल-कराणा वाया सोई सड़क, 5.38 करोड़ रुपये से होने वाले सरीउन बासा माहोग सन्धू वाया हलाई सड़क के सुधार कार्य और उन्नयन, ग्राम पंचायत नहौल में गिरी नदी पर सामति में 1.72 करोड़ रुपये से निर्मित होने वाले पुल और 12.37 करोड़ रुपये से होने वाले छैला कैंची सैंज सड़क के उन्नयन कार्य का शिलान्यास किया।
मुख्यमंत्री के ठियोग आगमन पर क्षेत्र के लोगों द्वारा उनका गर्मजोशी से स्वागत किया गया। इस अवसर पर विभिन्न सामाजिक, सांस्कृतिक और राजनीतिक संगठनों द्वारा मुख्यमंत्री को सम्मानित भी किया।
ठियोग के ईशान पब्लिक स्कूल के छात्रों ने अपने जेब खर्च से बचाए गए 21000 रुपये का चैंक मुख्यमंत्री राहत कोष में भंेट किया।
इस अवसर पर हिमाचल प्रदेश के गठन के 75 वर्षों पर तैयार किए गए एक थीम गीत तथा सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा हिमाचल प्रदेश की 75 वर्ष की गौरवशाली यात्रा पर तैयार किए एक वृतचित्र का प्रदर्शन भी किया गया।
सांसद सुरेश कश्यप ने कहा कि देश में राष्ट्रीय जनतान्त्रिक गठबंधन (एनडीए) सरकार का आठ वर्ष का कार्यकाल देश के इतिहास में उल्लेखनीय रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व में भारत विश्व शक्ति बनकर उभरा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के सक्षम नेतृत्व में प्रदेश प्रगति और समृद्धि के पथ पर आगे बढ़ रहा है। उन्होंने मुख्यमंत्री से ठियोग के जिला स्तरीय रैहली मेले को राज्य स्तरीय दर्जा प्रदान करने का भी आग्रह किया।
ठियोग के विधायक राकेश सिंघा ने अपने निर्वाचन क्षेत्र में मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि ठियोग ऊपरी शिमला का प्रवेश द्वार होने के कारण इस क्षेत्र में विकास के मामले में विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। उन्होंने मुख्यमंत्री को राज्य का सबसे लोकप्रिय मुख्यमंत्री बताते हुए कहा कि जय राम ठाकुर ने सदैव उन क्षेत्रों के विकास को सर्वोच्च प्राथमिकता प्रदान की है, जो किसी न किसी कारण से उपेक्षित रहे हैं।
एपीएमसी के अध्यक्ष नरेश शर्मा ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि ठियोग संभवतः देश की पहली रियासत थी, जहां ठियोग राज्य के तत्कालीन शासक के खिलाफ शांतिपूर्ण विद्रोह के उपरान्त लोकतांत्रिक ढंग से सरकार चुनी गई थी। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान मुख्यमंत्री ने यह सुनिश्चित किया है कि क्षेत्र के किसान और बागवान अपनी उपज बिना किसी देरी के बाजारों तक पहुंचा सकें। उन्होंने मुख्यमंत्री को क्षेत्र की विभिन्न विकासात्मक मांगों से भी अवगत करवाया।
शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज, चौपाल के विधायक बलबीर वर्मा, हिमाचल प्रदेश राज्य सहकारी, कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक की अध्यक्ष शशि बाला, भाजपा जिलाध्यक्ष अजय श्याम, मंडलाध्यक्ष दुनी चंद कश्यप, हिमको फेड के अध्यक्ष कौल नेगी, भाजपा कार्य समिति के सदस्य संदीपनी भारद्वाज, उपायुक्त शिमला आदित्य नेगी, पुलिस अधीक्षक डॉ. मोनिका और क्षेत्र के अन्य गणमान्य व्यक्ति इस अवसर पर उपस्थित थे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: