SAMNA NEWS

मुख्यमंत्री ने जयसिंहपुर विधानसभा क्षेत्र में 29.74 करोड़ रुपये लागत की विकासात्मक परियोजनाओं के शिलान्यास व लोकार्पण किए

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज कांगड़ा जिला के जयसिंहपुर विधानसभा क्षेत्र में 29.74 करोड़ रुपये लागत की विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास किए। इनमें 1.79 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित (जुह नाला के ऊपर) पन्तेहड़ से कुंजेश्वर महादेव सड़क पर कॉजवे, 4.46 करोड़ रुपये लागत से निर्मित नागरिक अस्पताल जयसिंहपुर के 50 बिस्तर क्षमता के अतिरिक्त खण्ड, 6.46 करोड़ रुपये की लागत के कंवर दुर्गा चन्द राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान भवन बालकरूपी और 4.17 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित अग्निशमन केन्द्र भवन जयसिंहपुर, 2.56 करोड़ रुपये की लागत की बहाव सिंचाई योजना छतरुल, 2.67 करोड़ रुपये की लागत की उठाऊ पेयजल योजना मछुई, रंगडू, नडली, सौरा व घरचींडी और 4.06 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित खण्ड विकास कार्यालय लम्बागांव का भवन शामिल हैं। मुख्यमंत्री ने 3.57 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले उप-तहसील भवन पंचरूखी का शिलान्यास भी किया।इस अवसर पर पंचरूखी में आयोजित जनसभा को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने पंचरुखी में नया अग्निशमन उप-केन्द्र और टिक्कर में स्वास्थ्य उप-केन्द्र खोलने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग विश्राम गृह पंचरुखी में अतिरिक्त आवास सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को इसका प्राक्कलन तैयार करने के निर्देश दिए ताकि आवश्यक धनराशि स्वीकृत की जा सके।

उन्होंने स्थानीय प्रशासन को पंचरुखी में बहुमंजिला पार्किंग के निर्माण के लिए उपयुक्त भूमि चिन्हित करने के भी निर्देश दिए। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविड-19 महामारी से लड़ने में देश का सफलतापूर्वक नेतृत्व किया। उन्होंने कहा कि दुनिया का सबसे बड़ा मुफ्त टीकाकरण अभियान भी देश में सफलतापूर्वक आरम्भ किया गया।राज्य में कोरोना महामारी को नियंत्रित करने के लिए किए गए प्रयासों की सराहना करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश, देश में लक्षित आबादी को कोविड वैक्सीन की पहली और दूसरी खुराक देने में प्रथम स्थान पर रहा है। उन्होंने प्रदेशवासियों से बूस्टर डोज लेने का भी आहवान किया।लोगों के कल्याण के प्रति सरकार की प्रतिबद्धता को दोहराते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने अपनी पहली कैबिनेट बैठक में वृद्धावस्था पेंशन की आयु सीमा 80 से घटाकर 70 वर्ष कर दी थी, अब इसे पुनः घटा कर 60 वर्ष कर दिया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि गंभीर बीमारी से पीड़ित लोगों को सहायता प्रदान करने के लिए प्रदेश सरकार ने सहारा योजना आरम्भ की है। सरकार द्वारा कार्यान्वित की जा रही हिमकेयर योजना भी गरीब लोगों के लिए मददगार साबित हुई है। जयसिंहपुर के विधायक रविंद्र धीमान ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए क्षेत्र के समग्र विकास को प्राथमिकता देने के लिए उनका आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में आधारभूत ढांचे का विकास लोगों को विभिन्न सुविधाएं प्रदान करने में दूरगामी भूमिका निभाएगा।इस अवसर पर हिमाचल प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष विपिन सिंह परमार, राज्य योजना बोर्ड के उपाध्यक्ष रमेश धवाला, बैजनाथ के विधायक मुल्ख राज प्रेमी, वूल फेडरेशन के अध्यक्ष त्रिलोक कपूर और राज्य कर्मचारी एवं पेंशनर कल्याण बोर्ड के उपाध्यक्ष घनश्याम शर्मा भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: