SAMNA NEWS

प्रधानमंत्री ने शिमला में गरीब कल्याण सम्मेलन को संबोधित किया

शिमला 31 मई, 2022 हिमाचल में अच्छे कार्यों के लिए जय राम ठाकुर सरकार की सराहना की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज शिमला के ऐतिहासिक रिज मैदान पर गरीब कल्याण सम्मेलन को संबोधित किया। यह कार्यक्रम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के आठ वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में आयोजित किया गया था। यह कार्यक्रम देश के राज्यों की राजधानी, जिला मुख्यालयों और कृषि विज्ञान केंद्रों में भी आयोजित किया गया।
इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना के अन्तर्गत देश के 10 करोड़ लाभार्थी किसान परिवारों को 21,000 करोड़ रुपये से अधिक की वित्तीय सहायता की 11वीं किस्त भी जारी की।
प्रधानमंत्री ने देशभर के पीएम-किसान सहित विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों से बात की। उन्होंने लद्दाख के ताशी टडुंप, बिहार की ललिता देवी, पश्चिम त्रिपुरा के पंकज शानी, कर्नाटक के कलबुर्गी की संतोषी, गुजरात के मैहसाणा के अरविन्द के साथ वर्चुअल माध्यम से और शिमला के रिज मैदान से हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिला की समा देवी से सीधे संवाद किया।
इस अवसर पर जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने इस महत्त्वपूर्ण अवसर पर हिमाचल में उपस्थित होने पर खुशी व्यक्त की। उन्होंने पीएम-किसान योजना के माध्यम से 10 करोड़ से अधिक किसानों को उनके बैंक खाते में पैसे मिलने पर किसानों को बधाई व शुभकामनाएं दी। उन्होंने शिमला से देशभर में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम किसान) योजना के अन्तर्गत आर्थिक लाभ जारी करने पर प्रसन्नता व्यक्त की। उन्होंने 130 करोड़ नागरिकों की सेवा का अवसर प्रदान करने के लिए लोगों का आभार व्यक्त किया।
प्रधानमंत्री ने अफसोस व्यक्त किया कि 2014 से पहले भ्रष्टाचार से लड़ने के बजाय इसे व्यवस्था का अनिवार्य हिस्सा मान लिया जाता था। सरकार भ्रष्टाचार से लड़ने के बजाय इसके सामने झुक गई थी। उस समय देश इस बात का साक्षी था कि जरूरतमंद लोगों तक पहंुचने से पहले योजनाओं का पैसा लूट लिया जाता था। उन्होंने कहा कि आज जन-धन, आधार और मोबाइल की त्रिमूर्ति के कारण पैसा सीधे लाभार्थियों के जन-धन बैंक खातों तक पहंुच रहा है। पहले रसोईघर में धुंआ झेलने की मजबूरी थी लेकिन आज उज्ज्वला योजना के अन्तर्गत एलपीजी सिलेण्डर की सुविधा है। पहले खुले में शौच की शर्म थी, परन्तु आज गरीबों के पास शौचालय का सम्मान है। पहले उपचार के लिए पैसे जुटाने की लाचारी थी आज हर गरीब के पास आयुष्मान भारत का सहारा है। पहले तीन तलाक का डर था और अब अपने अधिकारों के लिए लड़ने की हिम्मत है।
नरेन्द्र मोदी ने कोविड महामारी के दौरान प्रदेश में जय राम ठाकुर के नेतृत्व में राज्य सरकार द्वारा किए गए कार्योें की सराहना करते हुए कहा कि हिमाचल सरकार ने कोविड-19 टीकाकरण की पहली और दूसरी खुराक देने में प्रथम स्थान हासिल कर देश के अन्य राज्यों का पथ प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि देवभूमि हिमाचल उनकी कर्मभूमि भी रही है, क्योंकि वर्षों तक उन्होंने राज्य में कार्य किया है। उन्होंने प्रदेश में जल जीवन मिशन के सफल क्रियान्वयन के लिए हिमाचल सरकार के अच्छे कार्यों की भी सराहना की। उन्होंने कहा कि राज्य के बद्दी क्षेत्र ने कोरोना महामारी से निपटने के लिए दवाओं की आपूर्ति सुनिश्चित की।
प्रधानमंत्री ने कहा कि सशस्त्र बलों में हिमाचल के हर परिवार का महत्त्वपूर्ण योगदान है और भाजपा सरकार में चार दशकों के विलम्ब के बाद वन रैंक वन पेंशन को क्रियान्वित किया गया और पूर्व सैनिकों को एरियर दिया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के इस निर्णय से हिमाचल के लाखों परिवार लाभान्वित हुए हैं।
मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने इस अवसर पर प्रधानमंत्री का स्वागत करते हुए गरीब कल्याण सम्मेलन के आयोजन के लिए प्रदेश की राजधानी शिमला का चुनाव करने के लिए उनका आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के उदारतापूर्ण सहयोग से हिमाचल प्रदेश लाभान्वित हुआ है। उन्होंने कहा कि प्रदेश और यहां के लोगों के प्रति प्रधानमंत्री के स्नेह के कारण ही राज्य को पिछले साढ़े चार वर्षों में 10,000 करोड़ रुपये से अधिक की केंद्रीय योजनाएं मिली हैं। उन्होंने कहा कि राज्य का विशेष दर्जा बहाल हुआ है, जिससे अब प्रदेश को विभिन्न केंद्रीय योजनाओं में 90ः10 के अनुपात में वित्तीय सहायता मिल रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के आशीर्वाद से ही राज्य को पिछले कुछ माह के दौरान 800 करोड़ रुपये की विशेष केंद्रीय सहायता प्राप्त हुई है।
जय राम ठाकुर ने कहा कि बिलासपुर में अखिल भारतीय आर्युर्विज्ञान संस्थान (एम्स) तथा हमीरपुर, नाहन और चम्बा में चिकित्सा महाविद्यालय खोले गए हैं, जो केवल केन्द्र सरकार की वित्तीय सहायता के फलस्वरूप संभव हो पाया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने वर्ष 2019 में धर्मशाला में ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट का आयोजन किया, जिसे प्रधानमंत्री ने अपनी उपस्थिति से सुशोभित किया था। उन्होंने कहा कि अब तक प्रदेश में 50 हजार करोड़ रुपये का निवेश हुआ है, जिसमें से 28,197 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की ग्राउंडब्रेकिंग 27 दिसम्बर, 2021 को मण्डी में आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने स्वयं की थी। उन्होंने बताया कि इस समारोह में प्रधानमंत्री ने 11000 करोड़ रुपये की राष्ट्रीय महत्व वाली विभिन्न विकासात्मक परियोजनाओं के उद्घाटन एवं शिलान्यास किए थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार को केन्द्र सरकार से प्रदेश में मेडिकल डिवाईस पार्क स्थापित करने के लिए भी स्वीकृृति प्राप्त हुई है। उन्होंने कहा कि नालागढ़ में स्थापित होने वाले इस पार्क में 5000 करोड़ रुपये का निवेश होगा तथा इससे राज्य के 10 हजार युवाओं को रोजगार प्राप्त होगा।
जय राम ठाकुर ने कहा कि हाल ही में चार राज्यों में हुए चुनावों में भाजपा की सरकार बनी है और उसी प्रकार वर्ष 2022 में प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों में भी भारतीय जनता पार्टी पुनः सरकार बनाएगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के लोगों को राज्य व केंद्र सरकार की नीतियों व कार्यक्रमों में पूर्ण विश्वास है।
इससे पूर्व, अनाडेल हेलिपेड पर राज्यपाल राजेन्द्र विश्वनाथ आर्लेकर, मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर तथा अन्य वरिष्ठ नेताओं ने प्रधानमंत्री का गर्मजोशी के साथ स्वागत किया।
शिमला पहुंचने पर प्रधानमंत्री ने सीटीओ से लेकर माल रोड तक रोड शो में भी भाग लिया और हजारों लोगों ने उनका हर्षोल्लास से स्वागत किया।
इस अवसर पर केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर, शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज, सांसद एवं भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुरेश कश्यप, स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल, ऊर्जा मंत्री सुख राम चौधरी, विधायक, विभिन्न बोर्डों व निगमों के अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष शिमला से तथा मंत्री और विधायक अपने जिलों से इस कार्यक्रम में वर्चुअल माध्यम से शामिल हुए।
.0.

Leave a Reply

%d bloggers like this: